ताज़ा खबर
 

इनकम टैक्स रिटर्न कैसे भरें, ये है ऑनलाइन आईटीआर फाइल करने का तरीका

How to File Income Tax Return: रजिस्ट्रेशन के समय ऐसा मोबाइल नंबर डालें जिसपर आपको ओटीपी आसानी से मिल सके।
Income Tax Return भरते समय आईटीआर फॉर्म में दिए गए सभी नियमों को ध्यान से पढ लें।

आधिल सेट्टी, सीईओ बैंक बाजार डॉट कॉम

भारत की कुल जनसंख्या के 5 फीसदी लोग भी इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) फाइल नहीं करते हैं। जो लोग आईटीआर भरते हैं उनमें ज्यादातर लोग नौकरी करने वाले होते हैं। देश के विकास के लिए तो सरकार के पास पैसा इनकम टैक्स से ही आता है। अगर देश के लोग ही अपनी आय को सरकार से छुपाएंगे तो देश का विकास कैसे होगा। सरकार पूरी कोशिश कर रही है कि लोग उससे अपनी आय को न छुपा पाएं। इसके लिए जांच एजेंसियां लगातार छापे भी मार रही हैं। नोटबंदी के बाद सरकार ने न जाने कितनी जगह छापेमारी की थी। लोग आसानी से अपना टैक्स भर सकें सरकार इसके लिए लगातार प्रयास कर रही है।

आईटीआर फाइल करने से पहले जानें ये बातें
इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई 2017 है। यह इनकम टैक्स साल 2016-17 में कमाई गई राशि पर लगने वाले टैक्स के लिए है। अगर आप नौकरी करते हैं तो अपनी कंपनी से फॉर्म 16 ले लें। अगर आप अपना रोजगार करते हैं तो अपने ग्राहक से फॉर्म 16 लें।

आईटीआर घर बैठे ऑनलाइन फाइल करने की प्रक्रिया
आयकर विभाग ने ऑनलाइन इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की प्रक्रिया को सरल बनाया है। इनकम टैक्स रिटर्न ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से फाइल किया जा सकता है। आपको बता दें कि 5 लाख रुपये से ज्यादा आय वालों के लिए ऑनलाइन आईटीआर फाइल करना अनिवार्य है। हम आपको बताते हैं कि कैसे आप ऑनलाइन आईटीआर फाइल कर सकते हैं।

1- आयकर विभाग की वेबसाइट http://incometaxindiaefiling.gov.in/ पर जाएं।
2- इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए वेबसाइट पर अपना रजिस्ट्रेशन करें। वेबसाइट पर राइट साइड में खुद को रजिस्टर (Register Yourself) करने का विकल्प आ रहा होगा। इसके बाद नया पेज खुलेगा। इस पेज पर मांगी गई सभी जानकारियां डाल दें। यहां ऐसा नंबर या ईमेल आईडी डालें जिस पर आपको आसानी से ओटीपी मिल सके।

3- इसके बाद जब आप रजिस्टर कर देंगें तो आपको एक ईमले मिलेगा। इस ईमेल में एक लिंक दिया हुआ होगा। जब इस लिंक को खोलेंगे तो यहां एक ओटीपी डालना होगा। यह ओटीपी आपके रजिस्ट्रेशन के वक्त दिए गए मोबाइल नंबर पर आएगा। यदि ओटीपी नहीं मिला हो तो इनकम टैक्स विभाग के कस्टमर केयर पर संपर्क करें।
4- जब आपका रजिस्ट्रेशन और ईमेल वेरिफिकेशन पूरा हो जाए तो वेबसाइट पर अपना लॉगिन करें। आपका पैन नंबर आपका यूजरनेम होगा और पैन कार्ड पर दी गई जन्मतिथि आपका पासवर्ड होगा। इसके बाद नया पेज खुल जाएगा। यहां प्रिपेयर एंड सब्मिट ऑनलाइन आईटीआर (ऑनलाइन आईटीआर फाइल करने) के विकल्प को चुनें।
5- इसके बाद फॉर्म में सिलेक्ट करें कि आप किस साल का आईटीआर फाइल करने जा रहे हैं। नौकरी करने वाले लोगों को आईटीआर-1 फॉर्म सिलेक्ट करना है। वहीं अपना रोजगार करने वालों के लिए आईटीआर-4 फॉर्म है। नए यूजर को न्यू एड्रेस (नया पता) सिलेक्ट करके उसमें अपना पता डालना है। जब फॉर्म में मौजूद पूरी जानकारी भर लें तो प्रस्तुति पर क्लिक करें। अब आप अपने आईटीआर फॉर्म में दिए गए सभी नियमों को ध्यान से पढ लें। आपने जो भी जानकारियां दी हैं उन्हें ध्यान से देख लें। निवेश और फॉर्म 16 या 16ए में काटे गए टीडीएस की जानकारी आदि भर दें। यह जरूर सुनिश्चित कर लें कि ऑनलाइन फॉर्म में दिया गया अंतिम टैक्स आपके दिए जा रहे टैक्स के बराबर ही हो। सब्मिट करने से पहले एक बार प्रिव्यू करके देख लें कि आपने जो जानकारियां दी हैं वह सब ठीक हैं कि नहीं।

आधार के जरिए अपने आईटीआर का वेरिफिकेशन करें:
1 जुलाई 2017 से सभी टैक्स देने वालों को आधार नंबर देना जरूरी है। इनकम टैक्स रिटर्न के वेरिफिकेशन के लिए इस विकल्प को चुन सकते हैं। आधार कार्ड के जरिए ओटीपी ई-वेरिफिकेशन के लिए, मैं अपने इनकम टैक्स रिटर्न के लिए आधार ओटीपी प्राप्त करना चाहता/चाहती हूं। विकल्प को चुन सकते हैं। इसके बाद आधार नंबर से लिंक मोबाइल पर ओटीपी आएगा। ओटीपी डालने के बाद आईटीआर का ई वेरिफिकेशन का मैसेज मिल जाएगा।

ऑनलाइन इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की प्रक्रिया बहुत ही आसान है। इसमें तकनीक का ज्यादा ज्ञान होने की जरूरत नहीं है। ध्यान रहे कि आखिरी वक्त में सर्वर पर ज्यादा लोड होने से फाइल करने में दिक्कत आ सकती है। बेहतर होगा कि आखिरी तारीख से पहले ही ऑनलाइन इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर दें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.