December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

Air Asia को परिचालन मंजूरी पर रोक लगाने की उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर

घरेलू विमानन कंपनियों के मंच फेडरेशन ऑफ इंडियन एयरलाइंस ने गुरुवार (27 अक्टूबर) को उच्चतम न्यायालय में एक याचिका दायर कर निजी क्षेत्र की विमानन कंपनी एयर एशिया को दी गई।

Author नई दिल्ली | October 27, 2016 23:38 pm
हवाई जहाज।

घरेलू विमानन कंपनियों के मंच फेडरेशन ऑफ इंडियन एयरलाइंस ने गुरुवार (27 अक्टूबर) को उच्चतम न्यायालय में एक याचिका दायर कर निजी क्षेत्र की विमानन कंपनी एयर एशिया को दी गई परिचालन मंजूरी के खिलाफ स्थगन आदेश जारी करने या दिल्ली उच्च न्यायालय में लंबित संबंधित मुद्दे की तेजी से सुनवाई करने का निर्देश दिए जाने का आग्रह किया है। न्यायमूर्ति ए आर दवे, आर के अग्रवाल और ए एम खानविलकर की पीठ ने दीवाली की छुट्टियों के बाद इस याचिका पर सुनवाई करने पर सहमति दी है। फेडरेशन की ओर से वरिष्ठ वकील दुष्यंत दवे ने कहा कि इस मामले को उस विशेष पीठ के पास भेजा जाए जिसने इसे पहले 2014 में दिल्ली उच्च न्यायालय को इस मुद्दे पर शीघ्र निर्णय करने को कहा था। दवे ने कहा, दिल्ली उच्च न्यायालय इस मामले में 17 बार सुनवाई स्थगित किए जाने की मंजूरी दे चुका है इसलिए एयर एशिया को दी गई मंजूरी पर शीघ्र स्थगन लगाने के लिए कुछ निर्देश दिए जाने चाहिए या दिल्ली उच्च न्यायालय को कहा जाना चाहिए कि वह इस मुद्दे की तेजी से सुनवाई करे।

उन्होंने कहा कि इस पर अगली सुनवाई के लिए सात नवंबर की तारीख तय की जानी चाहिये क्योंकि दिल्ली उच्च न्यायालय में यह मामला 11 नवंबर को आने वाला है। पीठ इस पर सहमत हो गई है। मलेशिया की सूचीबद्ध कंपनी एयर एशिया बेरहाद ने फरवरी 2014 में टाटा संस और टेलेस्ट्रा ट्रेडप्लेस प्रा. लिमिटेड के साथ मिलकर एयर एशिया इंडिया एयरलाइंस के परिचालन के लिए संयुक्त उपक्रम का समझौता किया था।

फेडरेशन इस एयरलाइन को परिचालन की मंजूरी का विरोध कर रहा है। भारतीय जनता पार्टी के नेता एवं सांसद सुब्रहमण्यम स्वामी ने भी एयर एशिया इंडिया को दी गई मंजूरी को चुनौती दी है। उनका कहना है कि या तो इस मामले में अदालत को अधिकारियों ने गलत और भ्रामक जानकारी दी है या नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने कानून की अनदेखी कर अवैध कार्य किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 27, 2016 11:37 pm

सबरंग