December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

नोटबंदी के बाद से जन धन खातों में अब तक 64,250 करोड़ रुपए कराए गए जमा, यूपी टॉप पर

प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत सबसे ज्यादा 25.58 करोड़ बैंक अकाउंट्स खोले गए थे।

Author नई दिल्ली | November 25, 2016 21:11 pm
2000 रुपए के नोट दिखाता एक युवक। (Photo Source: AP) चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

जन धन बैंक खातों में अब तक 64,252.15 रुपए जमा कराए गए हैं। इस लिस्ट में यूपी सबसे ऊपर है। यूपी में अब तक 10,670.62 करोड़ रुपए जन धन खातों में जमा कराए गए हैं। इसके बाद दूसरे नंबर पर पश्चिम बंगाल और तीसरे नंबर पर राजस्थान है। यह जानकारी सरकार ने शुक्रवार को दी। राज्य वित्त मंत्री संतोष कुमार गंगवार ने शुक्रवार को लोकसभा में लिखित में जवाब देते हुए बताया, ‘ प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत खोले गए 25.58 करोड़ बैंक खातों में 16 नवंबर तक 64,252.15 करोड़ रुपए जमा कराए गए हैं।

इस लिस्ट में यूपी सबसे ऊपर है, यहां इस योजना के तहत सबसे ज्यादा 3.79 करोड़ अकाउंट्स खोले गए थे। इन अकाउंट्स में 10,670.62 करोड़ रुपए जमा कराए गए हैं। इसके बाद 2.44 करोड़ अकाउंट वाले पश्चिम बंगाल है, जहां 7,826.44 करोड़ रुपए इन खातों में जमा कराए गए हैं। राजस्थान में 1.89 करोड़ अकाउंट्स में 5,345.57 करोड़ रुपए जमा कराए गए हैं। बिहार में 2.62 करोड़ अकाउंट में 4,912.79 करोड़ रुपए जमा किए गए हैं। साथ ही बताया कि 25.58 करोड़ खातों में 5.98 करोड़ खाते जीरो बैलेंस खाते हैं।

बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट बंद करने का ऐलान आठ नवंबर को किया था। इसके साथ ही पुराने नोट जमा कराने के लिए 30 दिसंबर तक का वक्त दिया गया था। इसके बाद पुराने नोट जमा कराने वालों की काफी लंबी कतारें बैंकों के बाहर देखने को है।

बता दें, नोटबंदी के बाद 30 दिसंबर तक जमा की गई बेहिसाब राशि के बारे में अगर कर अधिकारियों के समक्ष घोषणा की जाती है तो उस पर 50 प्रतिशत कर लगेगा और साथ ही चार साल के लिये निकासी पर रोक (लॉक-इन अवधि) होगी। सूत्रों ने यह जानकारी दी। सूत्रों के मुताबिक अगर घोषणा नहीं की जाती है और कर अधिकारी इसका पता लगाते हैं तो इस पर 60 प्रतिशत कर लगेगा और निकासी पर लंबे समय के लिए रोक होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में गुरुवार (24 नवंबर) रात मंत्रिमंडल की बैठक में इस प्रस्ताव पर विचार किया गया। एक सूत्र ने कहा, ‘सरकार इसे प्रभाव में लाने के लिए संसद के मौजूदा सत्र में आयकर कानून में संशोधन करेगी। सूत्रों ने कहा कि सरकार नोटबंदी की घोषणा इस बात को लेकर गंभीर है कि 10 नवंबर से 30 दिसंबर तक 50 दिन की अवधि में सभी बेहिसाब धन बैंक खातों में जमा हो।

वीडियो में देखें- नोटबंदी पर पीएम के सर्वे को शत्रुघ्न सिन्हा ने बताया प्लांटेड; कहा- मूर्खों की दुनिया में जीना बंद करें

वीडियो में देखें- राज्यसभा में नोटबंदी पर मनमोहन सिंह बोले- “फैसले के खिलाफ नहीं, लेकिन इसे लागू करने के तरीके से असहमत”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 25, 2016 9:04 pm

सबरंग