ताज़ा खबर
 

Delhi Metro: बढ़ेगें मेट्रो के कोच, 258 डिब्बों से बढ़ेगी रफ्तार, 20 लोगों को पहुंचाएगी फायदा

दिल्ली मेट्रो की चार और छह कोच वाली कुछ ट्रेनों को जल्द ही आठ कोच वाली ट्रेन में तब्दील किया जाएगा। इसके साथ ही नई आठ कोच वाली ट्रेनें भी लाई जाएंगी।
Author नई दिल्ली | October 22, 2016 01:49 am

दिल्ली मेट्रो की चार और छह कोच वाली कुछ ट्रेनों को जल्द ही आठ कोच वाली ट्रेन में तब्दील किया जाएगा। इसके साथ ही नई आठ कोच वाली ट्रेनें भी लाई जाएंगी। इस साल के अंत और अगले साल की शुरुआत तक 258 कोचों को दिल्ली मेट्रो के बेड़े से जोड़ा जाएगा, जो ब्लू, येलो व रेड लाइनों के जरिए करीब 20 लाख लोगों को फायदा पहुंचाएगी। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) के प्रबंध निदेशक मंगू सिंह ने शुक्रवार को यमुना बैंक डिपो से आठ कोच वाली एक मेट्रो को रवाना कर इसकी शुरुआत की। इस बदलाव के तहत नई आठ कोच वाली मेट्रो के साथ कुछ चार व छह कोच वाली ट्रेनों को आठ कोच में तब्दील किया जाएगा। दिल्ली मेट्रो के अधिकारियों ने बताया कि ब्लू, येलो और रेड जैसी तीनों मुख्य लाइनों पर यात्रियों की वहन क्षमता बढ़ाने के लिहाज से 258 नए कोचों को शामिल किया जा रहा है, जिसमें से 162 कोच बोंबार्डियर और 96 कोच भारत अर्थ मूवर्स लिमिटेड (बीईएमएल) की ओर से इस साल के अंत और अगले साल की शुरुआत में सप्लाई किए जाएंगे।

अधिकारियों ने बताया कि येलो लाइन पर आठ कोच वाली 14 नई ट्रेनें और ब्लू लाइन पर तीन नई ट्रेनें चलाई जाएंगी। इसके साथ ही आठ कोच वाली ट्रेनों में बदलाव के लिए ब्लू लाइन को तीन कोच, येलो लाइन को 10 कोच और रेड लाइन को 38 कोच दिए जाएंगे। फिलहाल, दिल्ली मेट्रो के बेड़े में 227 मेट्रो ट्रेनें हैं, जिसमें 128 छह कोच वाली, 58 आठ कोच वाली और 41 चार कोच की वाली ट्रेनें हैं। ब्लू लाइन पर सबसे अधिक 71, येलो लाइन पर 60 व रेड लाइन पर 29 ट्रेनें चलती हैं।

मेट्रो ने तीसरे चरण के लिए पहले से 504 कोच तैयार करने का आॅर्डर दिया है, जबकि डीएमआरसी की ओर से कुल 924 कोच का आर्डर दिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि पिछले दो साल में स्टैंडर्ड गेज की ग्रीन व वॉयलेट लाइन कॉरिडोर में 162 कोच जोड़े गए हैं। पिछले साल भी डीएमआरसी ने चार व छह कोच वाली मेट्रो को आठ कोच में बदलने के लिए 212 कोच अपने बेड़े में शामिल किए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग