December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

मिस्त्री ने जेटली से मिलने का समय मांगा, सरकार टाटा घराने विवाद से दूर रहने के पक्ष में

मिस्त्री टाटा समूह के ऐसे पहले चेयरमैन थे जिनका टाटा परिवार से कोई संबंध नहीं था।

Author नई दिल्ली | November 1, 2016 19:37 pm
टाटा समूह के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री। (रॉयटर्स फाइल फोटो)

टाटा समूह के चेयरमैन पद से हटाए गए साइरस मिस्त्री ने वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात का समय मांगा है। लेकिन सरकार ने फिलहाल टाटा समूह के निदेशक मंडल के भीतर की रस्साकशी से अपने को दूर रखने का निर्णय किया है। जेटली के पास कंपनी मामलों के मंत्रालय का भी प्रभार है। मिस्त्री टाटा समूह के ऐसे पहले चेयरमैन थे जिनका टाटा परिवार से कोई संबंध नहीं था। उन्हें पिछले महीने के आखिर में झटके से हटा दिया गया। उन्होंने इस प्रकरण में अपनी बात रखने के लिए जेटली से मुलाकात का समय मांगा है। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा कि वित्त मंत्री ने फिलहाल दोनों में से किसी पक्ष से ना मिलने का निर्णय किया है क्योंकि सरकार देश के इस प्रमुख औद्योगिक समूह के आंतरिक उठापटक में लिप्त होते नहीं दिखना चाहती है।

टाटा समूह की धारक कंपनी टाटा संस ने मिस्त्री की जगह पूर्व चेयरमैन रतन टाटा को चार महीने के लिए अंतरिम चेयरमैन बनाया है। रतन टाटा ने फिलहाल जेटली से मुलाकात का समय नहीं मांगा है पर मीडिया में ऐसी रपटें आई थीं कि दोनों ने प्रधानमंत्री से मुलाकात का समय लिया था। अधिकारी ने कहा कि सरकार टाटा घराने के पचड़े में स्वयं उलझना नहीं चाहती। इससे पहले वित्त राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा था कि सरकार टाटा समूह की घटनाओं पर नजदीकी से निगाह रखे हुए है। उन्होंने कहा था कि सेबी और अन्य एजेंसियां भी इस मामले में सतर्क हैं। लेकिन अभी तक कोई मामला कॉरपोरेट मंत्रालय के पास नहीं पहुंचा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 1, 2016 7:37 pm

सबरंग