ताज़ा खबर
 

कोयला खानों की नीलामी से ग़रीब राज्य लाभान्वित होंगे

कोयला ब्लॉकों के लिए आक्रामक नीलामी चौथे दिन जारी रहने के उम्मीद के बीच सरकार ने आज कहा कि इस नीलामी से गरीब राज्य लाभान्वित होंगे। कोयला सचिव अनिल स्वरूप ने कहा, ‘‘कोयला ब्लॉकों की नीलामी चौथे दिन भी जारी है। आने वाले समय में अप्रत्याशित लाभ होगा। गरीब राज्य कोयला ब्लॉक की नीलामी से […]
Author February 17, 2015 17:08 pm
Coal Block Auction: इन ब्लॉकों के लिये जेएसपीएल तथा बाल्को सर्वोच्च बोलीदाता के रूप में उभरी थीं।

कोयला ब्लॉकों के लिए आक्रामक नीलामी चौथे दिन जारी रहने के उम्मीद के बीच सरकार ने आज कहा कि इस नीलामी से गरीब राज्य लाभान्वित होंगे। कोयला सचिव अनिल स्वरूप ने कहा, ‘‘कोयला ब्लॉकों की नीलामी चौथे दिन भी जारी है। आने वाले समय में अप्रत्याशित लाभ होगा। गरीब राज्य कोयला ब्लॉक की नीलामी से लाभान्वित होंगे।’’

आज जिन खानों की नीलामी हो रही है उनमें मध्य प्रदेश स्थित अमेलिया (उत्तर) बिजली क्षेत्र के लिए है, जबकि पश्चिम बंगाल में अर्द्धग्राम खान और छत्तीसगढ़ में छोटिया खान गैर..बिजली क्षेत्र के लिए है।

अमेलिया (उत्तर) खान के लिए 10 कंपनियां दौड़ में हैं जिनमें अडाणी पावर, भारत एल्युमीनियम (बाल्को), एस्सार पावर एमपी लिमिटेड, जीएमआर छत्तीसगढ़ एनर्जी, जीवीके पावर गोइंडवाल साहिब लिमिटेड, जयप्रकाश पावर वेंचर्स, जिंदल पावर, जेएसडब्ल्यू एनर्जी, रतनइंडिया पावर और रिलायंस जियोथर्मल शामिल हैं।

वहीं पांच कंपनियां- ईस्टर्नरेंज कोल माइनिंग, मोनेट इस्पात एंड एनर्जी, ओसीएल आयरन एंड स्टील, एसएस नैचुरल रिसोर्सेज और वीजा स्टील- अर्द्धग्राम कोयला खान के लिए बोली लगा रही हैं।

छोटिया खान के लिए तकनीकी तौर पर पात्र बोलीकर्ताओं में बाल्को, गोदावरी पावर एंड इस्पात, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज, प्रकाश इंडस्ट्रीज, रूंगटा माइन्स और अल्ट्राटेक सीमेंट शामिल हैं।

अमेलिया (उत्तर) खान में अनुमानित 7.02 करोड़ टन, जबकि अर्द्धग्राम में अनुमानित 1.92 करोड़ टन कोयले का भंडार है। वहीं छोटिया खान में 1.35 करोड़ टन कोयले का भंडार होने का अनुमान है। कल जयप्रकाश एसोसिएट्स, दुर्गापुर प्रोजेक्ट्स और बीएस इस्पात ने एक-एक खान हासिल की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.