December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

अरुण जेटली बोल, केंद्र सरकार जनधन खातों में अचानक जमा बढ़ने की करेगी जांच

सरकार हटाए गए नोटों के स्थान पर नए नोट डालने के काम को सुगम तरीके से करने पर ध्यान दे रही है। जेटली ने कहा कि ध्यान रखा जा रहा है कि लोगों को कम से कम परेशानी हो।

Author नई दिल्ली | November 12, 2016 20:53 pm
नई दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली। (PTI Photo by Atul Yadav/12 Nov, 2016)

सरकार शून्य शेष वाले जनधन खातों में अचानक जमा में आए उछाल की निगरानी कर रही है। पुराने नोटों को बंद करने के बाद सिर्फ दो दिन में बैंकिंग प्रणाली में दो लाख करोड़ रुपए की नकदी आई है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शनिवार (12 नवंबर) को कहा कि विधि प्रवर्तन एजेंसियो की गैरकानून मनी चेंजरों पर गिद्ध दृष्टि है। ये मनी चेंजर 500 और 1,000 रुपए का नोट बदल रहे हैं। इसके अलावा लोग अपना बेहिसाबी धन सोना और सर्राफा बाजार में लगा रहे हैं। जेटली ने कहा, ‘हमें कुछ शिकायतें मिली हैं कि अचानक से जनधन खातों में जमा बढ़ा है। इसका मतलब दुरच्च्पयोग हो रहा है।’ उन्होंने कहा कि जमा में कुछ गड़बड़ी पाए जाने के मामले को संबंधित विभाग देखेंगे।

सरकार हटाए गए नोटों के स्थान पर नए नोट डालने के काम को सुगम तरीके से करने पर ध्यान दे रही है। जेटली ने कहा कि ध्यान रखा जा रहा है कि लोगों को कम से कम परेशानी हो। ‘प्रवर्तन निदेशालय और राजस्व विभाग की इस पर नजदीकी निगाह है।’ बंद किए नोटों का गैरकानूनी इस्तेमाल करने वाले लोगों को आगाह करते हुए जेटली ने कहा कि अधिकारी किसी गैरकानूनी गतिविधि के खिलाफ कार्रवाई करने में हिचकिचाएंगे नहीं। उनका यह बयान इन खबरों के बाद आया है कि ऊंचे मूल्य के पुराने नोटों का इस्तेमाल सोना खरीदने के लिए किया जा रहा है या फिर उन्हें प्रीमियम पर बदला जा रहा है। प्रवर्तन निदेशालय 67 विदेशी मुद्रा विनिमय डीलरों की जांच कर रहा है। केंद्रीय उत्पाद खुफिया महानिदेशालय प्रमुख ज्वेलरों और सर्राफा कारोबारियों पर निगाह रखे हुए है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 12, 2016 8:53 pm

सबरंग