ताज़ा खबर
 

1 फरवरी को पेश हो सकता है आम बजट, कैबिनेट की बैठक में PM मोदी लेेंगे फैसला

मोदी सरकार बजट पेश करने की तारीख 1 फरवरी तय कर सकती है। अभी तक इस संबंध में सरकार चुनाव आयोग की हरी झंडी का इंतजार कर रही थी, जो अब उसे मिल गई है।
Author नई दिल्ली | October 18, 2016 13:25 pm
सही काम न करने वाले अधिकारियों को कड़ा संदेश देते हुए केंद्र सरकार ने राजस्‍व सेवाओं के 33 अफसरों को गुरुवार को समय पूर्व रिटायरमेंट दे दिया।

आम बजट पेश करने की तारीख को लेकर कैबिनेट इस हफ्ते फैसला ले सकता है। मोदी सरकार बजट पेश करने की तारीख 1 फरवरी तय कर सकती है। अभी तक इस संबंध में सरकार चुनाव आयोग की हरी झंडी का इंतजार कर रही थी, जो अब उसे मिल गई है। दरअसल 2017 में पांच राज्यों में चुनाव होने हैं। ऐसे में सरकार चाहती थी कि बजट को चुनाव से पहले पेश कर दिया जाए। सरकार यूपी, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर विधानसभा चुनाव के बीच बजट पेश करना नहीं चाहती थी।

अधिकारियों के मुताबिक इस मामले में चुनाव आयोग से सलाह मांगी गई थी। आयोग ने वित्त मंत्रालय के विचार से सहमति जताते हुए कहा कि यह एक सालाना वित्तीय लेखा-जोखा है और सरकार की सहूलियत के हिसाब से कभी भी पेश किया जा सकता है। बजट की तारीख के संबंध में फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में होनी वाली बैठक होगा। कैबिनेट की बैठक बुधवार या गुरूवार को होगी।

वीडियो: इस साल अलग से नहीं पेश होगा रेल बजट; केंद्र सरकार ने रेल बजट को आम बजट में पेश करेगा

मंत्रिमंडल ने 21 सितंबर को सैद्धांतिक रूप से केंद्रीय बजट फरवरी महीने के अंतिम दिन पेश किए जाने के उपनिवेशिक काल से चली आ रही परंपरा को समाप्त करने और इसे एक महीने पहले पेश करने का फैसला किया। इसका मकसद सालाना व्यय योजना और कर प्रस्तावों के लिये विधायी प्रक्रिया एक अप्रैल से शुरू नए वित्त वर्ष से पहले समाप्त करना था।

READ ALSO:  मोदी ने किया OROP का जिक्र, बोले- 40 साल से रुका काम हमने पूरा किया

जेटली ने पिछले सप्ताह कहा था, ‘‘हम पूरी बजट प्रक्रिया और वित्त विधेयक पहले पारित कराकर इसे एक अप्रैल से लागू करना चाहते हैं न कि जून से। क्योंकि उसके बाद मानसून शुरू हो जाता है और व्यय प्रभावी तरीके से अक्तूबर से शुरू हो पाता है।’’ उन्होंने कहा कि सरकार चाहती है कि व्यय अप्रैल से शुरू हो जाए। जेटली ने कहा कि हम इस संबंध में समन्वय चाहते हैं ताकि बजट की घोषणा चुनाव के बीच न हो। यह उसके पहले या बाद में होना चाहिए। वित्त मंत्रालय प्रस्ताव करता रहा है कि बजट एक फरवरी को पेश किया जाए और पूरी प्रक्रिया 24 मार्च तक संपन्न हो जाए।

READ ALSO:  मोदी सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार का ट्विटर अकाउंट हैक, पोस्ट किए गए आपत्तिजनक संदेश

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 18, 2016 1:25 pm

  1. No Comments.