ताज़ा खबर
 

फुटकर मांग बढ़ने से बीते सप्ताह सोना, चांदी में तेजी

सोने की कीमत 50 रुपए की मजबूती के साथ 30,750 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गई।
Author नई दिल्ली | July 17, 2016 19:59 pm
फरवरी में इससे भी निचले स्तर पर था सोना । (पीटीआई फाइल फोटो)

विदेशी बाजारों में गिरावट आने के बावजूद फुटकर मांग को पूरा करने के लिए आभूषण विक्रेताओं की लिवाली बढ़ने के कारण बीते सप्ताह के दौरान सोने में तेजी निर्बाध जारी रही और इसकी कीमत 50 रुपए की मजबूती के साथ 30,750 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गई। औद्योगिक इकाइयों और सिक्का निर्माताओं की उठान बढ़ने के कारण चांदी की कीमत में भी तेजी देखने को मिली। बाजार सूत्रों ने कहा कि शादी विवाह के मौसम के मद्देनजर आभूषण विक्रेताओं की मांग बढ़ने से इस बहुमूल्य धातु की कीमत में तेजी आई। उन्होंने कहा कि हालांकि शेयर बाजार में तेजी लौटने के बाद निवेशकों ने बहुमूल्य धातुओं से अपना रुख मोड़कर सर्राफा बाजार की ओर कर लिया जिससे वैश्विक बाजारों में सोने में गिरावट आई। इसके कारण घरेलू बाजारों का लाभ कुछ सीमित हो गया।

वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में सोना गिरावट दर्शाता 1,337.10 डॉलर प्रति औंस और चांदी भी गिरावट दर्शाता 20.20 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुआ। राष्ट्रीय राजधानी में 99.9 और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने 30,850 रुपए और 30,700 रुपए प्रति 10 ग्राम पर मजबूत शुरुआत हुई और कारोबार के दौरान सप्ताह के उच्चतम स्तर क्रमश: 30,935 रुपए और 30,785 रुपए प्रति 10 ग्राम तक मजबूत हो गई। बाद में कमजोर वैश्विक संकेतों और मौजूदा स्तर पर इसे प्रतिरोध का सामना करना पड़ा तथा आगे आंशिक गिरावट के साथ क्रमश: 30,750 रुपए और 30,600 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ। यह अभी भी 50-50 रुपए की तेजी को दर्शाता है।

हालांकि मामूली कारोबार के कारण सीमित दायरे में घट बढ़ के बाद गिन्नी के भाव 23,400 रुपए प्रति आठ ग्राम पर अपरिवर्तित बंद हुए। सोने की ही तरह चांदी तैयार के भाव सीमित दायरे में घट बढ़ के बाद सप्ताहांत में 200 रुपए की तेजी के साथ 46,500 रुपए प्रति किलो पर बंद हुआ जबकि चांदी साप्ताहिक डिलीवरी के भाव सप्ताहांत में 210 रुपए की गिरावट के साथ 47,275 रुपए प्रति किग्रा पर बंद हुए। चांदी सिक्कों के भाव 1,000 रुपए की तेजी के साथ लिवाल 74,000 रुपए और बिकवाल 75,000 रुपए प्रति सैकड़ा पर बंद हुए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग