ताज़ा खबर
 

मनपसंद नाश्ता हुआ महंगा

ब्रेड कंपनियों के दाम बढ़ाने की घोषणा के साथ ही फुटकर बाजार में दुकानदारों ने कीमतें बढ़ा दी हैं। ब्रेड की कीमत से करीब 10-15 फीसद ज्यादा दाम वसूले जा रहे हैं।
Author नई दिल्ली | August 11, 2016 01:30 am

ब्रेड कंपनियों के दाम बढ़ाने की घोषणा के साथ ही फुटकर बाजार में दुकानदारों ने कीमतें बढ़ा दी हैं। ब्रेड की कीमत से करीब 10-15 फीसद ज्यादा दाम वसूले जा रहे हैं। इससे न केवल नाश्ता महंगा हुआ है, बल्कि ब्रेड जैसे अन्य उत्पाद जैसे कुल्चे, बन आदि की भी कीमतें बढ़ गई हैं। हालांकि कुछ जगह पर छपी कीमत से ज्यादा कीमत मांगने पर खरीदारों की विक्रेताओं से कहासुनी भी हुई लेकिन बाद में ज्यादा कीमत देकर ब्रेड का पैकेट खरीदना पड़ा। दूसरी तरफ, नोएडा के सेक्टर-29 में दादी मां की रसोई नाम से चलने वाले प्रतिष्ठान में महज 5 रुपए में लोगों को भरपेट खाना खिलाया जा रहा है। यहां रोजाना करीब 150-200 लोग खाना खाते हैं।

उल्लेखनीय है कि नोएडा व ग्रेटर नोएडा में ज्यादातर कामकाजी और एकल परिवारों के कारण नाश्ते में ब्रेड का उपयोग बहुत ज्यादा है। कॉलेज या कंपनियों में नौकरी करने वाले बैचलर भी नाश्ते में ठेली, रेहड़ी पर चाय के साथ ब्रेड बटर, ब्रेड आॅमलेट पसंद करते हैं।200 ग्राम की ब्रेड के पैकेट की कीमत 10 के बजाए 12 रुपए, 400 ग्राम की 20 के बजाए 22 रुपए और 800 ग्राम की 35 की जगह 40 रुपए कीमत खुदरा दुकानदार वसूल रहे हैं।

जानकारों का मानना है कि ब्रेड की कीमतें बढ़ने का असर ब्रेड कुल्चे, पाव, बर्गर, सैंडविच से लेकर पिज्जा तक पड़ेगा। ब्रेड कंपनियों की कीमत बढ़ाने के साथ ही पिज्जा, बर्गर बनाने वाली कंपनियां भी अपनी कीमतें बढ़ाएंगी। बता दें कि ब्रेड बनाने वाली कंपनियों ने गेंहू, चीनी, वनस्पति तेल के अलावा मजदूरी और माल भाड़ा बढ़ने की वजह से ब्रेड की कीमत बढ़ाने का फैसला किया है। दादी मां की रसोई चला रहे समाजसेवी अनूप खन्ना ने बताया कि नोएडा जैसे महंगे शहर में सस्ता खाना मिलना एक तोहफे जैसा है। गरीबों का पेट भरने के अलावा दुआएं मिलती हैं। उन्होंने एनजीओ और प्रशासन की मदद से सस्ते खाने के प्रतिष्ठानों की संख्या बढ़ाने को जरूरी बताया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.