December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

पूर्व सैनिकों की मूल पेंशन 2.57 गुना बढ़ी: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने यहां भारतीय सेना की गोरखा रेजीमेंट के पूर्व सैनिकों को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय सेना के पूर्व सैनिकों की मूल पेंशन दिसंबर, 2015 की तुलना में 2.57 गुना बढ़ गयी है।

Author पोखरा (नेपाल) | November 5, 2016 00:09 am

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने यहां भारतीय सेना की गोरखा रेजीमेंट के पूर्व सैनिकों को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय सेना के पूर्व सैनिकों की मूल पेंशन दिसंबर, 2015 की तुलना में 2.57 गुना बढ़ गयी है। सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर मुखर्जी ने भारत की सीमा की चौकसी करने वाले गोरखा सैनिकों के साहस एवं अनुशासन की सराहना की । नेपाल की तीन दिन की राजकीय यात्रा पर आए मुखर्जी अपनी यात्रा के आखिरी पड़ाव में यहां पूर्व गोरखा सैनिकों के पेंशन कार्यालय गए क्योंकि बड़ी संख्या में ये सैनिक सेवानिवृत्ति के बाद यहां रहते हैंं। धौलागिरि, मचापुचारे और अन्नपूर्णा शिखरों की गोद में स्थित विहंगम पोखरा घाटी भारतीय सेना की प्रख्यात गोरखा रेंजीमेंट के अनेक सैनिकों का निवास स्थान है। राष्ट्रपति का यहां गर्मजोशी से स्वागत किया गया । वह हवाईअड्डे से एक होटल पहुंचे और वहां थोड़ी देर ठहरने के बाद पेंशन कार्यालय गए। उनके रास्ते मेंं लोग पारंपरिक वेशभूषा पहनकर और भारत तथा नेपाल के झंडे लेकर उनके स्वागत में खडे थे।


मुखर्जी ने कहा, ‘‘सातवें वेतन आयोग के अनुसार 31 दिसंबर, 2015 की मूल पेंशन की तुलना में वन रैंक वन पेंशन योजना के तहत मूल पेंशन 2.57 गुना बढ़ गयी है। ’’
उन्होंने कहा कि भारतीय रक्षाबलों का सर्वोच्च कमांडर होने के नाते उनके लिए बड़े संतोष एवं गर्व की बात है कि नेपाल में पूर्व सैनिकों की सभी कल्याणकारी योजनाएं समय से लागू की जा रही हैं। भारतीय सेना में 32,000 गोरखा सैनिक एवं 1.26 लाख पूर्व गोरखा सैनिक हैं। भारत पूर्व सैनिकों के कल्याण के लिए सभी संभव कदम उठाने में कभी संकोच नहीं करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 5, 2016 12:08 am

सबरंग