December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

बड़े नोट बंद होने के बाद बैंकों ने अब तक बांटा ₹30,000 करोड़

सरकार ने 10 नवंबर से लोगों को किसी भी बैंक अथवा डाकघर शाख पर 4,000 रुपए तक के नोट बदलने की सुविधा प्रदान की है।

Author मुंबई | November 13, 2016 21:41 pm
2000 रुपए का नया नोट। (File Photo)

सरकार के 500, 1000 रुपए का नोट वापस लेने के फैसले के बाद पिछले तीन दिनों में बैंकों ने 2,000 रुपए और छोटी मुद्रा में 30,000 करोड़ रुपए की नकदी वितरित की है। बैंकों के शीर्ष संगठन ने यह जानकारी दी है। सरकार ने आठ नवंबर को 500 और 1,000 रुपए के नोट चलन से वापस ले लिए। यह कदम कालेधन पर अंकुश के लगाया गया। इसके बाद 9 नवंबर को बैंक बंद रहे ताकि बंद कर दिए गए पुराने नोट के बदले नए छोटे नोट का स्टॉक रख सकें। भारतीय बैंक संघ (आईबीए) ने एक वक्तव्य में कहा, ‘पिछले तीन कार्यदिवसों के दौरान 50, 100 रुपए के छोटे नोट और नये जारी 2,000 रुपए के नोट में करीब 30,000 करोड़ रुपए की नकदी वितरित की गई है। एटीएम को नए जारी किए गए 500 और 2,000 रुपए के नोट के अनुरूप व्यवस्थित किया जा रहा है।’

सरकार ने 10 नवंबर से लोगों को किसी भी बैंक अथवा डाकघर शाख पर 4,000 रुपए तक के नोट बदलने की सुविधा प्रदान की है। इसके अलावा ग्राहक अपने खाते से चेक अथवा निकासी पर्ची के जरिये एक दिन में 10,000 रुपए और सप्ताह में अधिकतम 20,000 रुपए की निकासी कर सकते हैं। यह सुविधा 24 नवंबर तक जारी रहेगी और उसे बाद निकासी सीमा बढ़ा दी जाएगी। आईबीए ने कहा कि बैंक रिजर्व बैंक द्वारा तय सीमा के भीतर सभी ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। आईबीए ने हालांकि, लोगों से भुगतान के दूसरे तौर तरीकों जैसे डेबिट और क्रेडिट कार्ड भी इस्तेमाल में लाने की अपील की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 13, 2016 9:41 pm

सबरंग