January 16, 2017

ताज़ा खबर

 

विजय माल्या पर अपने बच्चों को 4 करोड़ डॉलर देने का आरोप, सुप्रीम कोर्ट ने मांगा जवाब

माल्या और उनकी कंपनियों पर बैंकों का 6200 करोड़ रुपए बकाया है।

Author नई दिल्ली | January 11, 2017 18:49 pm
शराब कारोबारी विजय माल्या। (एपी फाइल फोटो)

शराब के कारोबारी विजय माल्या द्वारा विभिन्न न्यायिक आदेशों का उल्लंघन करके अपने बच्चों के नाम चार करोड़ डॉलर हस्तांरित करने के बैंकों के आरोपों पर कार्रवाई करते हुये उच्चतम न्यायालय ने बुधवार (11 जनवरी) को उन्हें इस मामले में तीन सप्ताह के भीतर जवाब दाखिल करने को कहा है। न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ और न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर की पीठ ने विजय माल्या को तीन सप्ताह के भीतर हलफनामा दाखिल करने का निर्देश देने के साथ ही भारतीय स्टेट बैंक के नेतृत्व वाले बैंकों के कंसोर्टियम की याचिका पर सुनवाई दो फरवरी के लिये स्थगित कर दी। बैंकों की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता श्याम दीवान ने आरोप लगाया कि विजय माल्या ने अपने बच्चों के नाम चार करोड़ अमेरिकी डॉलर हस्तांतरित करके कर्ज वसूली न्यायाधिकरण और कर्नाटक उच्च न्यायालय के आदेशों का उल्लंघन किया है। उन्होंने कहा कि यह रिकॉर्ड का तथ्य है कि माल्या और उनकी कंपनियों पर बैंकों का 6200 करोड़ रुपए बकाया है और यह धन यहां जमा कराया जाना चाहिए था।

दूसरी ओर, माल्या की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता सी एस वैद्यनाथन ने बैंकों की अर्जी का जवाब देने के लिये समय मांगा जो न्यायालय ने उन्हें दे दिया। न्यायलय ने पिछले साल अक्तूबर में माल्या को आड़े हाथ लिया था क्योंकि उन्होंने विदेशों में अपनी संपत्ति के बारे में पूरा खुलासा नहीं किया था। न्यायालय ने उन्हें सारा खुलासा करने के लिये एक महीने का वक्त दिया था। पीठ ने पिछले साल फरवरी में ब्रिटिश फर्म दियागियो से कथित रूप से मिले चार करोड़ अमेरिकी डॉलर का विवरण नहीं देने के कारण भी उन्हें आड़े हाथ लिया था। पीठ ने कहा था कि पहली नजर में उसका मानना है कि पहले के आदेश के अनुरूप सही तरीके से संपत्ति का खुलासा नहीं किया गया है। अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगल ने पिछले साल 20 अगस्त को शीर्ष अदालत से कहा था कि माल्या ने जानबूझ कर 25 फरवरी को डियागियो से चार करोड़ अमेरिकी डॉलर मिलने सहित अपनी संपत्तियों का पूरा विवरण नहीं था।

शराब कारोबारी विजय माल्या की मुश्किलें; सुप्रीम कोर्ट ने विदेश में संपत्ति का ब्यौरा देने को कहा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on January 11, 2017 6:49 pm

सबरंग