December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

पुरी के जगन्नाथ मंदिर से जुड़े लेख में गलती पर एयर इंडिया ने मांगी माफी

एयर इंडिया की पत्रिका में पूजा-पाठ और स्वादिष्ट खाने के बारे में लिखे एक लेख में कहा गया है कि मंदिर में मांसाहारी भोजन भी परोसा जाता है।

Author नई दिल्ली | October 29, 2016 18:46 pm
एयरपोर्ट पर लैंड करती एयर इंडिया की फ्लाइट। (File Photo)

सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम एयर इंडिया और उसके प्रमुख अश्वनी लोहानी ने एयरलाइन की विमान पत्रिका ‘शुभयात्रा’ में पुरी जगन्नाथ मंदिर पर लिखे एक लेख में प्रकाशित गलती पर शनिवार (29 अक्टूबर) को माफी मांगी है। एयर इंडिया ने कहा है कि उसकी मंशा किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने की नहीं थी। एयर इंडिया की पत्रिका में पूजा-पाठ और स्वादिष्ट खाने के बारे में लिखे एक लेख में कहा गया है कि मंदिर में मांसाहारी भोजन भी परोसा जाता है। एयरलाइन ने एक ट्वीट में कहा, ‘एयर इंडिया इस गलती के लिए माफी मांगता है। हमारा इरादा किसी की भावनाओं को ठोस पहुंचाने का नहीं था। विमानों से शुभयात्रा पत्रिका की प्रतियां तुरंत प्रभाव से हटा लीं गईं हैं।’ एयर इंडिया ने यह कदम पत्रिका में छपे लेख के खिलाफ उड़ीसा में विरोध प्रदर्शन होने के बाद उठाया है।

एयरलाइन ने एक अन्य ट्वीट में कहा है, ‘मैं, एयर इंडिया का सीएमडी अश्वनी लोहानी, शुभयात्रा में प्रकाशित लेख के लिए माफी मांगता हूं। इस संबंध में सुधारात्मक कदम उठाये जा रहे हैं।’ इसमें कहा गया है कि लेखक ने भी लिखित में माफी मांगी है। एयरलाइन ने यह भी कहा है कि वह अब बिना नाम के कोई लेख प्रकाशित नहीं करेगी। पत्रिका में छपे लेख में कहा गया है, ‘पुरी के जगन्नाथ मंदिर की रसोई जिसे देश में सबसे बड़ा बताया जाता है, में 500 रसोइयों और 300 सहायकों की पूरी फौज है जो रोजाना 1,00,000 लोगों को खाना खिला सकते हैं। इसका मतलब है कि यहां रोजाना शाकाहारी और मांसाहारी खाने की करीब करीब 285 किस्में परोसी जातीं हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 29, 2016 6:46 pm

सबरंग