ताज़ा खबर
 

यूनियन बजट 2017: बुनियादी ढांचा क्षेत्र के लिए ₹3.96 लाख करोड़ का रिकॉर्ड आबंटन

जेटली ने कहा कि सड़क क्षेत्र के लिए बजट आबंटन 2016-17 के 57,676 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 2017-18 में 64,000 करोड़ रुपए किया गया है।
Author नई दिल्ली | February 1, 2017 19:18 pm
संसद में आम बजट पेश करते केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली और पटना के एक टीवी शोरूम में उन्हें देखते लोग। (पीटीआई फोटो/1 फरवरी, 2017)

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार (1 फरवरी) को वित्त वर्ष 2017-18 के बजट में बुनियादी ढांचा क्षेत्र के लिए रिकॉर्ड 3.96 लाख करोड़ रुपए के आबंटन की घोषणा की। उन्होंने अपने बजट भाषण में कहा कि इस तरह के निवेश से आर्थिक गतिविधियां बढ़ेंगी और रोजगार के अधिक अवसर पैदा किए जा सकेंगे। जेटली ने कहा, ‘बुनियादी ढांचा क्षेत्र के लिए 2017-18 में कुल आबंटन 3,96,135 करोड़ रुपए का होगा।’ उन्होंने कहा कि इतने भारी निवेश से बड़े पैमाने पर आर्थिक गतिविधियों को प्रोत्साहन दिया जा सकेगा और रोजगार के अधिक अवसर पैदा किए जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि पूरे परिवहन क्षेत्र….रेलवे, सड़क, जहाजरानी के लिए मैं 2,41,387 करोड़ रुपए के प्रावधान का प्रस्ताव करता हूं।’

वित्त मंत्री ने कहा, ‘मुझे आजाद भारत का पहला संयुक्त बजट पेश करते हुए गर्व हो रहा है। इसमें रेलवे भी शामिल है। अब हम रेलवे, सड़क, जलमार्ग तथा नागर विमानन क्षेत्र में निवेश में तालमेल बैठाने की स्थिति में होंगे। 2017-18 में रेलवे के लिए कुल पूंजी और विकास व्यय 1,31,000 करोड़ रुपए रहने का अनुमान है। इसमें सरकार द्वारा बजट से उपलब्ध कराई गई 55,000 करोड़ रुपए की राशि भी शामिल है।’ उन्होंने कहा कि राजमार्ग क्षेत्र के लिए आबंटन 2017-18 में बढ़ाकर 64,000 करोड़ रुपए किया जा रहा है। इससे पिछले वित्त वर्ष में यह राशि 57,676 करोड़ रुपए थी।

जेटली ने कहा कि सड़क क्षेत्र के लिए मैंने बजट आबंटन 2016-17 के 57,676 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 2017-18 में 64,000 करोड़ रुपए किया है। वित्त मंत्री ने कहा कि निर्माण एवं विकास के लिए 2,000 किलोमीटर की तटीय संपर्क सड़कों की पहचान की गई है। जेटली ने कहा कि 2014-15 से मौजूदा वर्ष तक प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना सहित अन्य कुल 1,40,000 किलोमीटर सड़कों का निर्माण किया गया है, जो इससे पिछले तीन वर्षों से उल्लेखनीय रूप से अधिक है।

सौर ऊर्जा क्षेत्र के बारे में वित्त मंत्री ने कहा कि 20,000 मेगावाट सौर ऊर्जा उत्पादन के लक्ष्य के साथ सौर बिजली विकास के दूसरे चरण को आगे बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि दूसरी श्रेणी के शहरों में चुनिंदा हवाई अड्डों को परिचालन और विकास के लिए लिया जाएगा। इनका विकास सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) मॉडल पर किया जाएगा। वित्त मंत्री ने कहा कि नई मेट्रो रेल योजना में वित्तपोषण के नवोन्मेषी तरीके होंगे।

बजट 2017: वित्त मंत्री अरुण जेटली का यह बजट अर्थव्‍यवस्‍था के लिए टॉनिक साबित होगा या नहीं?

बजट 2017: अरुण जेटली ने पेश किया बजट, जानिए बजट की मुख्य बातें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग