ताज़ा खबर
 

Union Budget 2017: राहुल गांधी बोले- शेरो शायरी का बजट है, सोचा था आतिशबाजी होगी लेकिन निकला बुझा बारूद

राहुल गांधी ने कहा कि बजट में युवा और किसानों के लिए कुछ नहीं किया गया है।
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी। ( File Photo)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को आम बजट को एक ‘फुस्स बम’ करार देते हुए कहा कि बजट में दूरदर्शिता की कमी साफ दिखाई दे रही है। राहुल ने केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली के आम बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए रेलवे की सुरक्षा को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोला और सवाल उठाया कि प्रधानमंत्री की स्वप्निल परियोजना ‘बुलेट ट्रेन’ कहां है? राहुल ने कहा, ‘हम तो आतिशबाजी की उम्मीद कर रहे थे, लेकिन उसकी जगह हमें एक फुस्स बम मिला है। बजट में दूरदर्शिता की कमी है। सरकार ने नोटबंदी के जरिए जो आम जनता को दर्द दिया था, उसके बाद उम्मीद थी कि गरीबों, किसानों और बेरोजगारों के लिए कुछ करेगी, लेकिन इसमें कोई स्पष्ट दृष्टिकोण लक्षित नहीं हो रहा है। वित्तमंत्री ने काफी शेरो-शायरी की और अच्छा भाषण दिया, लेकिन उसका कोई आधार नजर नहीं आया। वित्तमंत्री का काम रोजगार सृजन, किसानों की परेशानी जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर एक विस्तृत खाका पेश करना है। लेकिन उन्होंने इन बुनियादी बातों पर कुछ नहीं कहा।’

उन्होंने कहा, ‘अगर वह इस मौके का सचमुच फायदा उठाना चाहते हैं तो उन्हें कुछ बड़ी घोषणाएं करनी चाहिए थीं, खासतौर पर किसानों के लिए। मोदी ने दो करोड़ नौकरियां सृजित करने का वादा किया था, लेकिन पिछले साल केवल 1.5 करोड़ नौकरियों का सृजन किया गया। यह शर्मनाक है। किसान रो रहे हैं, उन्हें अपने ऋणों पर रियायत की जरूरत है। यह सरकार किसान हितैषी होने का दावा और बड़ी-बड़ी बातें करती है, लेकिन उसने उनके लिए कुछ नहीं किया।’

राहुल ने पूछा, “मोदी ने बुलेट ट्रेन शुरू करने की बात की थी। क्या वह शुरू हुई? रेलवे की बुनियादी समस्या सुरक्षा की है और इस सरकार का इस मामले में सबसे खराब रिकॉर्ड है। लेकिन क्या उन्होंने सुरक्षा को लेकर कुछ कहा?’ राहुल ने हालांकि राजनीतिक पार्टियों को दिए जाने वाली चंदे को 20,000 से घटाकर 2,000 करने की घोषणा का स्वागत किया। उन्होंने कहा, ‘यह एक अच्छा कदम है। राजनीतिक वित्त पोषण में पारदर्शिता लाने वाले किसी भी कदम का हम समर्थन करेंगे।’

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को संसद में केंद्रीय बजट पेश किया। जेटली ने बजट में मिडिल क्‍लास को राहत देते हुए इनकम टैक्‍स घटा दिया है। इसके साथ ही राजनीतिक पार्टियों को 2000 रुपये से ज्‍यादा के नकद चंदे पर भी रोक लगा दी गई। साथ ही कालेधन पर रोक लगाने वाले फैसले के तहत तीन लाख रुपये से ज्‍यादा के कैश लेनदेन को भी बंद कर दिया गया है।

जेटली ने बजट पेश करते हुए कहा कि 2.5 से पांच लाख रुपये की सालाना कमाई पर अब पांच प्रतिशत की दर से टैक्‍स लगेगा। वर्तमान में यह दर 10 प्रतिशत है। इसके साथ ही रेलवे को लेकर घोषणाओं में ई-टिकट से सर्विस चार्ज हटाने का फैसला लिया गया है।

वीडियो- बजट 2017: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने गिनवाईं सरकार की उपलब्धियां, कहा- “सबका साथ, सबका विकास”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.