June 25, 2017

ताज़ा खबर
 

राजस्थान बजट 2017-18: वसुन्धरा राजे ने पेश किया दूसरे शासनकाल का चौथा बजट, ₹200 करोड़ से अधिक की राहत

राजस्थान बजट 2017-18: बजट में चौबीस हजार 753 करोड तिरेपन लाख रुपए के राजकोषीय घाटा दर्शाया है।

Author जयपुर | March 8, 2017 20:04 pm
प्रतीकात्मक चित्र

राजस्थान विधानसभा में बुधवार (8 मार्च) को मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने वर्ष 2017-2018 का बजट पेश किया जिसमें वर्ष के दौरान एक लाख तीस हजार एक सौ बासठ करोड़ सात लाख रुपए की राजस्व प्राप्तियां और एक लाख 43 हजार छह सौ नब्बे करोड़ दस लाख रुपए का राजस्व व्यय होने का अनुमान है। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के पास वित्त विभाग भी हैं। राजे ने अपने दूसरे शासनकाल का यह चौथा बजट पेश करते हुए राजे ने हर वर्ग को राहत देते हुए राजस्थान को तेजी से विकास पथ पर ले जाने की मंशा जतायी।

बजट में आर्थिक एवं सामाजिक आधारभूत सरंचना का विकास और रोजगार के अवसर बढ़ाए जाने पर बल दिया गया है। बजट में दो सौ करोड़ रुपए से अधिक की राहत दी गयी है और करीब चालीस करोड़ रुपए की अतिरिक्त आय संभावित है। बजट में चौबीस हजार 753 करोड तिरेपन लाख रुपए के राजकोषीय घाटा दर्शाया है। बजट में राजस्थान के सर्वागीण विकास के लिए सड़क, स्वास्थ्य, बिजली, परिवहन, पर्यटन कृषि शिक्षा ,उद्योग का तेजी से विकास करने की योजनाओं तथा कार्यक्रमों पर आवंटन के साथ साथ मंदी के दौर से गुजर रहे

जमीन-जायदाद क्षेत्र के कारोबार को गति देने के लिए स्टाम्प डियूटी में राहत दी गयी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि विरासत में मिली चरमराई अर्थव्यवस्था, अकुशल वित्तिय प्रबंधन के कारण प्रगति का यह सफर अत्यन्त चुनौतीपूर्ण रहा और आगे भी यह सफर चुनौतीपूर्ण रहने वाला है। बजट प्रस्तुत किए जाते समय सदन में विपक्ष की ओर से दो बार व्यवधान डाले जाने के बावजूद मुख्यमंत्री ने बजट भाषण जारी रखा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण गौरव पथ से छूटी तीन हजार 987 ग्राम पंचायतों को आगामी दो साल में इस योजना से जोड़ा जाएगा। अगले वित्त वर्ष में ऐसी दो हजार ग्राम पंचायतों को जोड़ने के लिए बजट में दो सौ करोड़ रुपए खर्च का प्रावधान है। अगले साल एक हजार पांच सौ अस्सी करोड़ रुपए की लागत से 796 किलोमीटर राज्य राजमार्गों के निर्माण के साथ साथ सड़कों के निर्माण पर बारह सौ करोड़ रुपए खर्च किये जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कोटा,अजमेर,रणथम्भौर को जयपुर से और केंद्र सरकार की क्षेत्रीय सम्पर्क योजना के तहत जयपुर को जैसलमेर व आगरा से तथा बीकानेर को नई दिल्ली के बीच हवाई सेवा आरंभ करने और हवाई पट्टियों के नवीनीकरण पर सौलह करोड़ रुपए से अधिक खर्च पर्यटन स्थलों के सौदर्यीकरण पर 36 करोड़ रुपए खर्च करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने अगले दो साल में एक लाख कृषि कनेक्शन देने तथा दो सौ तेइस ग्रिड स्थापित करने, भेड़पालकों के लिए बीमा योजना पुन आरंभ करने, 36 लघु सिंचाई परियोजनाओं के जीर्णोद्धार पर छप्पन करोड़ रुपए से अधिक खर्च करने की घोषणा की है।

प्रतिपक्ष के हंगामे के बीच मुख्यमंत्री ने सहयोग एवं उपहार योजना के तहत पुत्रियों के विवाह पर देय अनुदान राशि को दस हजार, पांच हजार और दस हजार को बढ़ाकर दुगुना करने, विशेष योग्यजनों को एक जुलाई 2017 से सात सौ पचास रूपये प्रति माह पेंशन देने, विशेषयोग्यजन को सुखद दांपत्य जीवन योजना के तहत देय पच्चीस हजार रुपए को बढ़ाकर पचास हजार रुपए करने ,देवनारायण योजना के तहत गुर्जर बाहुल्य क्षेत्र मेहरडा गुजरवास (झुंझुनूं), केकड़ी (अजमेर), कुचामनसिटी (नागौर) और कोटा में आदर्श छात्रावास खोलने की घोषणा की है।

राजे ने मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना के तहत साठ साल से अधिक आयु की विधवाओं के लिए पेंशन राशि एक हजार रुपए और 75 वर्ष से अधिक को डेढ़ हजार रुपए प्रतिमाह पेंशन देने, राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की दसवीं और बारहवीं कक्षा में विशेष योग्यता पाने वाले प्रथम एक सौ विधार्थियों को एक मुश्त पंद्रह हजार रुपए और उच्च शिक्षा में प्रवेश लेने वाले प्रथम एक सौ विघार्थियों को पच्चीस हजार रुपए, सिविल सर्विसेज और राजस्थान प्रशासनिक सेवा में प्रथम एक सौ स्थान पर आने वाले प्रदेश के अभ्यार्थियों को क्रमश पचास हजार और तीस हजार रुपए एकमुश्त देने की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री के बजट प्रस्ताव के दौरान कांग्रेस के गोविन्द डोटासरा बिना अध्यक्ष की मंजूरी लिये बोलना चाहा पर अध्यक्ष ने उन्हें अनुमति नहीं दी। डोटासरा ने फिर व्यवधान डालने की कोशिश की। इस पर अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने उन्हें बिना इजाजत के बोलने से रोका और चेतावनी दी कि ऐसा फिर करने पर सदस्य को सदन के बाहर निकाला जा सकता है। अध्यक्ष के कड़े रुख पर नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने कुछ अपापत्ति दर्ज करानी चाही पर उन्हें अध्यक्ष से अनुमति नहीं मिली। इसी दौरान कांग्रेस के रमेश मीणा अध्यक्ष के आसान की तरफ बढ़ गए थे और सदन में कुछ समय तक शोरशराबा और हंगामा होता रहा।

मुख्यमंत्री ने करीब दो घंटे से अधिक समय के अपने बजट प्रस्तावों में नए कॉलेज, स्कूल खोलने, स्कूलों को क्रमोन्नत करने, खेलों के विकास के लिए खेल अकादमी खोलने, अस्पतालों में सुविधाओं और शैयाओं की संख्या बढ़ाने, कौशल नियोजन एवं उद्यमिता क्षेत्र में जयपुर से करीब बीस किलोमीटर दूर जामडोली में राजस्थान आईएलडी स्किल्स यूनिवर्सिटी खोलने, विचाराधीन मुकदमों का शीघ्र निपटारा करने के लिए पोकरण,कोटपुतली और बारा में अपर जिला एवं सैशन न्यायालय खोलने सहित चार स्थानों पर सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट, जयपुर में पास्कों कानून के मामलों की सुनवायी के लिए न्यायालय खोलने, सात स्थानों पर पारिवारिक न्यायालय खोलने और प्रतापगढ़, करौली में मोटर दुर्घटना दावा न्यायालय खोलने, अधिस्वीकृत पत्रकारों के लिए नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा को बढ़ाकर पांच हजार रुपए करने और मेडिकलेम पालिसी को कैशलेस करने की घोषणा की।

राजे ने मंदी के दौर से गुजर रहे भू कारोबार को गति देने के लिए पंजीयन एवं मुद्रांक की दरों में काफी राहत दी है साथ ही पारिवारिक सदस्यों के बीच होने वाले कुछ लेनदेन में पंजीयन शुल्क हटा दिया है। उन्होंने कारोबारियों (व्यापारियों) के रोजमर्रा के कामकाज को ईगर्वेनिंग सुविधाओं से जोड़ने की भी घोषणा की। अपने जन्म दिन के मौके पर हल्के पीले और सफेद रंग की साड़ी पहने राजे ने कहा कि हमने किन विषम आर्थिक परिस्थितियों और कठिनाईयों का सामना करने के बावजूद प्रदेश के विकास में कोई अवरोध, अड़चन नहीं आने दी। हमारी सरकारी प्रदेशवासियों के विश्वास की पूंजी से ऐसी प्रत्येक चुनौती का सामना करने को तैयार है। विधान सभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने अपनी तथा सदन की ओ से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी। राजे के बजट प्रस्ताव पेश करने से पहले नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने भी स्वयं एवं प्रतिपक्ष की ओर से राजे कोे जन्मदिन की शुभकामनाएं दी।

दिल्ली बजट 2017-18: बजट में किसी नए टैक्स का प्रस्ताव नहीं, शिक्षा-स्वास्थ्य पर खास ध्यान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 8, 2017 6:48 pm

  1. No Comments.
सबरंग