ताज़ा खबर
 

मुख्‍य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्‍यम ने गिनाई इस साल की सात उपलब्धियां, जेटली को बताया शानदार बॉस

मुख्‍य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्‍यम ने इकॉनॉमिक सर्वे पेश करने के बाद कहा कि पिछला साल सुदृढ़ अर्थव्‍यवस्‍था स्‍थायित्‍व वाला रहा।
मुख्‍य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्‍यम ने इकॉनॉमिक सर्वे पेश करने के बाद कहा कि पिछला साल सुदृढ़ अर्थव्‍यवस्‍था स्‍थायित्‍व वाला रहा।

मुख्‍य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्‍यम ने इकॉनॉमिक सर्वे पेश करने के बाद कहा कि पिछला साल सुदृढ़ अर्थव्‍यवस्‍था स्‍थायित्‍व वाला रहा। हालांकि उन्‍होंने कहा कि अभी पूर्ण पुनर्मुद्रीकरण की जरुरत है। कर शोषण और निरंकुशता विश्‍वसनीयता को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इस दौरान सुब्रमण्‍यम ने वित्‍त मंत्री अरुण जेटली की तारीफ की और उन्‍हें शानदार बॉस बताया। उन्‍होंने अमिताभ बच्‍चन का जिक्र करते हुए कहा कि बजट नाटकीय होना चाहिए।भारत की अर्थव्‍यवस्‍था की रफ्तार इस साल 6.5 प्रतिशत रही जो कि पिछले वित्‍तीय वर्ष की तुलना में कम रही है। पिछले साल यह रफ्तार 7.6 प्रतिशत थी। इकॉनॉमिक सर्वे में अनुमान लगाया गया है कि 2017-18 में यह दर 6.75-7.50 के बीच रहेगी।

सुब्रमण्‍यम ने वित्‍तीय वर्ष 2016-17 की सात बड़ी उपलब्धियां भी गिनाईं। इनमें जीएसटी, बैंकरप्‍सी बिल, मोनेटरी पॉलिसी कमिटी, आधार बिल, एफडीआई उदारीकरण, यूपीआई और श्रम क्षेत्रों को बढ़ावा दिए जाने को शामिल किया गया। आर्थिक सलाहकार ने बताया कि नोटबंदी का लक्ष्‍य रियल इस्‍टेट सेक्‍टर की कीमतों को कम करना था। नोटबंदी से नकदी की आपूर्ति कम हुई वहीं जमा को बढ़ावा मिला। इसमें अल्‍पका‍लिक फायदों के बजाय दीर्घकालिक फायदे ज्‍यादा हैं। आर्थिक सर्वे के अनुसार, भारत की व्‍यापार जीडीपी चीन से ज्‍यादा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.