ताज़ा खबर
 

बजट भाषण में बोले जेटली, देश में केवल 76 लाख भारतीय अपनी आय ₹5 लाख से अधिक दिखाते हैं

जेटली ने कहा कि आयकर रिटर्न में अपनी आय 50 लाख रुपए से अधिक दिखाने वाले केवल 1.72 लाख लोग हैं।
Author नई दिल्ली | February 1, 2017 20:43 pm
संसद में आम बजट पेश करते केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली। (PTI Photo/TV Grab/2 Feb, 2017)

वित्त मंत्री अरुण जेटली अपने बजट भाषण में कुछ आंकड़े दिये जिससे यह संकेत मिलता है कि देश का प्रत्यक्ष कर संग्रह अर्थव्यवस्था में आय एवं खपत के प्रतिरूप के अनुरूप नहीं है। वित्त वर्ष 2015-16 में 3.7 करोड़ लोगों ने टैक्स रिटर्न भरा जिसमें ने 99 लाख ने अपनी आय छूट सीमा 2.5 लाख रुपए से कम दिखायी। 1.95 करोड़ ने अपनी आय 2.5 से 5.0 लाख रुपए जबकि 52 लाख ने अपनी आय 5 लाख रुपए से 10 लाख रुपए दिखायी। केवल 24 लाख लोगों ने अपनी आय 10 लाख रुपए से अधिक दिखायी। कुल 76 लाख करदातओं ने अपनी आय पांच लाख रुपए से अधिक दिखायी, उसमें से 56 लाख वेतनभोगी हैं।

जेटली ने कहा कि आयकर रिटर्न में अपनी आय 50 लाख रुपए से अधिक दिखाने वाले केवल 1.72 लाख लोग हैं। उन्होंने कुछ आंकड़े रखे जिससे यह संकेत मिलता है कि प्रत्यक्ष कर संग्रह आय एवं खपत के अनुरूप नहीं है। उन्होंने कहा, ‘यह वास्तविकता है कि पिछले पांच साल में 1.25 करोड़ से अधिक कारें बिकी और वहीं 2015 में दो करोड़ व्यापार या पर्यटन के लिये विदेश गयें।’ जेटली ने कहा कि भारत का कर-जीडीपी अनुपात बहुत कम है और प्रत्यक्ष कर से अप्रत्यक्ष कर अनुपात सामाजिक न्याय लिहाज से अनुकूल नहीं है। वित्त मंत्री ने कहा कि लगभग 4.2 करोड़ लोग संगठित क्षेत्र में कार्यरत हैं लेकिन वेतन के लिये केवल 1.74 करोड़ लोगों ने रिटर्न फाइल किये। वहीं असंगठित क्षेत्र में 5.6 करोड़ व्यक्तिगत उद्यमी और कंपनियां कार्यरत हैं लेकिन इस श्रेणी में रिटर्न केवल 1.81 करोड़ है।

बजट 2017: अरुण जेटली ने पेश किया बजट, जानिए बजट की मुख्य बातें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.