ताज़ा खबर
 

गौरी लंकेश की हत्‍या के बाद काफी सुर्खियों में रहे थे ये बड़े पत्रकार, शांतनु भौमिक मर्डर पर जानिए इनकी राय

त्रिपुरा में बुधवार को 28 वर्षीय पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्या कर दी गयी थी।
खबर के अनुसार पत्रकार रोड ब्लॉक करने की कोशिश कर रही भाजपा समर्थक आदिवासी पार्टी स्वदेशी पीपुल्स फोरम की रिपोर्टिंग कर रहे थे। (फोटो सोर्स ट्विटर)

पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्या के बाद सोशल मीडिया पर एक बार फिर कुछ चर्चित पत्रकार निशाने पर हैं। कुछ सोशल मीडिया यूजर्स राजदीप सरदेसाई, रवीश कुमार, सागरिका घोष, बरखा दत्त जैसे पत्रकारों पर आरोप लग रहा हैं कि इन लोगों ने जिस तरह कर्नाटक की पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद प्रतिक्रिया दी थी वैसी प्रतिक्रिया शांतनु के हत्या के बाद नहीं दी।  बुधवार (20 सितंबर) को त्रिपुरा में इंडिजिनस पीपल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) और त्रिपुरा राजेर उपाजाति गणमुक्ति परिषद (टीआरयूजीपी) के बीच संघर्ष के दौरान 28 वर्षीय शांतनु की अपहरण और हत्या कर दी गयी। राज्य में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया-मार्क्‍सवादी (सीपीएम) की सरकार है। शांतनु की मृत्यु के बाद पत्रकारों ने मुख्यमंत्री माणिक सरकार के आवास के बाहर विरोध प्रदर्शन भी किया। त्रिपुरा पुलिस ने आईपीएफटी के चार लोगों को गिरफ्तार किया है। आइए देखते हैं जिन पत्रकारों पर सोशल मीडिया पर तंज कसा जा रहा है उनमें से किस-किस ने शांतनु की मौत पर कब-क्‍या प्रतिक्रिया दी-

राजदीप सरदेसाई ने बुधवार रात करीब 8:30 बजे शांतनु की हत्या की खबर बताते हुए ट्वीट किया। इसमें उन्होंने उम्मीद जताई कि त्रिपुरा की वामपंथी सरकार इस मामले में ज्यादा आक्रोश/चिंता दिखाएगी।

rajdeep sardesai शांतनु भौमिक की हत्या के बाद किया गया राजदीप सरदेसाई का ट्वीट।

राजदीप सरदेसाई ने गुरुवार (21 सितंबर) को एक अन्य ट्वीट में सूचना दी कि पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्या के विरोध में शुक्रवार (22 सितंबर) की शाम नई दिल्ली स्थित प्रेस क्लब में एक शोक सभा होगी।

 

rajdeep sardesai, santanu bhaumik राजदीप सरदेसाई द्वारा प्रेस क्लब में आयोजित विरोध सभा की सूचना ट्वीट करके दी गयी।

पत्रकार रवीश कुमार ने गुरुवार (21 सितंबर) को शांतनु भौमिक की हत्या पर फेसबुक पर लिखा। रवीश ने हत्या को दर्दनाक बताते हुए राज्य सरकार से उनके परिवार को एक करोड़ रुपये की राहत राशि देने की मांग की।

ravish kumar रवीश कमार का शांतनु भौमिक की हत्या के बाद फेसबुक पोस्ट।

रवीश कुमार ने भले ही आज शांतनु भौमिक की हत्या पर पोस्ट लिखी हो एनडीटीवी के सीनियर मैनेजिंग एडिटर अनिंद्यो चक्रवर्ती ने बुधवार (20 सितंबर) को शांतनु की हत्या की खबर आने के कुछ घंटे बाद ही ट्वीट के जरिए चार लोगों की गिरफ्तारी की सूचना साझा करते हुए मांग की कि त्रिपुरा सरकार हिंसा की राजनीति करने और अभिव्यक्ति की आजादी पर हमला करने के लिए आईपीएफटी पर सख्‍त कार्रवाई करे।

aunindyo chakravarty एनडीटीवी के सीनियर मैनेजिंग एडिटर अनिंद्यो चक्रवर्ती का शांतनु भौमिक की हत्या के बाद ट्वीट।

पत्रकार सागरिका घोष ने भी गुरुवार सुबह एक अन्य पत्रकार शुजात बुखारी का ट्वीट रीट्वीट किया जिसमें शांतनु भौमिक की हत्या की निंदा करने के साथ ही दोषियों की सजा दिलाने की मांग की गयी थी। गुरुवार दोपहर में सागरिका ने एक अन्य ट्वीट में शांतनु की हत्या के खिलाफ प्रेस क्लब में शुक्रवार को होने वाले विरोध प्रदर्शन की जानकारी दी।

sagarika ghosh, shujaat bukhari सागरिका घोष द्वारा पत्रकार शुजात बुखारी का ट्वीट रीट्वीट किया गया।

 

पत्रकार बरखा दत्त ने गुरुवार दोपहर 3.30 बजे तक शांतनु भौमिक की हत्या से जुड़ा कोई ट्वीट नहीं किया था। अब आइए देखते हैं कि इन पत्रकारों पर आरोप लगाने वाले लोग क्या कह रहे हैं। ज़ी टीवी के पत्रकार रोहित सरदाना ने गुरुवार सुबह छह बजे के करीब ट्वीट करके पूछा कि “विरोध प्रदर्शन करने वाले गिरोह” के लोग क्या आज प्रेस क्‍लब नहीं जाएंगे?

rohit sardana पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्या के बाद रोहित सरदाना का ट्वीट

मेजर सुरेंद्र पूर्णिया नामक यूजर ने भी पत्रकारों पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए शांतनु भौमिक की हत्या की तुलना गौरी लंकेश की हत्या से की है और उस पर लिबरल और अवार्ड वापसी से जुड़े लोगों की प्रतिक्रिया पूछी है।

major surendra poornia मेजर सुरेंद्र पूर्णिया नामक यूजर का ट्वीट।

नीचे देखिए इन्हीं पत्रकारों की गौरी लंकेश की हत्या के बाद किए गये पोस्ट और ट्वीट-

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. G
    GV Vishwas
    Sep 22, 2017 at 12:55 pm
    Gauri Lankesh had to die because she was a a very smart girl and likely to go up the ladder in congress party. No body can survive in congress if anybody is smart and likely to to go up in ladder in congress party. Anyone from congress can not survive if he or she is smart enough. Nobody from even Nehru clan has survived in in congress other than the madam and her her retarted child.
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग