June 24, 2017

ताज़ा खबर
 

ब्लॉग

हिंदी गाने ने बना दी राष्ट्रीय पहचान

बांग्ला संगीत जगत की बेहद लोकप्रिय गायिकाओं में से एक श्रीराधा बंद्योपाध्याय ने कई भारतीय भाषाओं में गाने गाए हैं।

मंटो का खत नेहरू के नाम: पंडित जी…मेरा आपका मुकाबला नहीं, आप पूरी नहर हैं और मैं सिर्फ डेढ़ सेर

11 मई 1912 को अविभाजित भारत में जन्मे मंटो का 18 जनवरी 1955 को पाकिस्तान में निधन हुआ।

हो सकता है नीतीश कुमार और नरेन्द्र मोदी का गठबंधन, इन पांच मुद्दों पर मिलता है दोनों का मन

जेडीयू 18 वर्षों तक एनडीए गठबंधन में शामिल रही है लेकिन साल 2013 में नरेन्द्र मोदी को पीएम पद का उम्मीदवार बनाए जाने...

जब जज बने नौशाद प्रतियोगिता छोड़कर भागे

सन 1930-31 में लखनऊ के रॉयल सिनेमा में कोई मूक फिल्म चल रही थी। वहां हारमोनियम पर उस्ताद लड्ढन, तबले पर उस्ताद कल्लन और...

सबरंगः अब जाकर सही राह पर चली है शिक्षा व्यवस्था

डीएवी कॉलेज प्रबंधन समिति के अध्यक्ष डॉक्टर पूनम सूरी का नाम आर्य समाज की विरासत के साथ जुड़ा हुआ है।

अपराध एक, इंसाफ दो: तार-तार हुआ अरव‍िंद केजरीवाल का स‍िद्धांत, कुमार व‍िश्‍वास ने घुटनों के बल झुकाया

कुमार विश्वास ने कहा था कि केजरीवाल चापलूसों से घिरे रहते हैं, वहीं अमानतुल्लाह खान ने कहा था कि कुमार पार्टी को हड़पना चाहते...

चैनलों पर हावी ‘राष्‍ट्रवाद’, पाकिस्‍तानी मेहमानों को नहीं बुलाने की कसमें, ‘बदला’ मांग रहे एंकर

''हमें खुद में झांककर देखना होगा कि हम इतने अभिमानी, गुलाम और चापलूस क्‍यों हो गए हैं।''

यूं ही फायरब्रांड नेता नहीं कही जातीं उमा भारती: भरी सभा में आडवाणी को दी थी चुनौती, मोदी को कह द‍िया था ”व‍िनाश पुरुष”

तीन मई 1959 को मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ में जन्मी उमा भारती महज 25 साल की उम्र में लोक सभा चुनाव लड़कर राजनीतिक जीवन...

समय की शिनाख्त करती कृति ‘पानी उदास है’

इन दिनों कवियों की संख्या बढ़ी है और कविताओं की लोकप्रियता घटी है। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि जिन्हें पढ़ा जाना चाहिए...

जानिए क्यों अखिलेश यादव और अरविंद केजरीवाल की हार से गदगद हैं नीतीश कुमार?

नीतीश ने 1970 के दशक में पटना के कॉफी हाऊस में एक कलमकार से गंभीरता से कहा था, "एक दिन मैं बिहार का सीएम...

आंदोलन, ईवीएम और आत्ममंथन

दिल्ली विधानसभा में 2015 की ऐतिहासिक जीत और उसके ठीक दो साल बाद पंजाब, गोवा, राजौरी गार्डन और अब दिल्ली नगर निगम का चुनावी...

नतीजों के बाद दिल्ली के सियासी मिजाज पर बात

आने वाले समय में दिल्ली की राजनीति के मिजाज पर सबकी नजर होगी।

अलविदा विनोद खन्ना, एक अमर अदाकार के बारे में पढ़े कुछ अनसुने फैक्ट्स

हिंदी फिल्मों के सुपर स्टार विनोद खन्ना ने मेरे अपने, मेरा गांव मेरा देश, गद्दार (1973 फिल्म), जेल यात्रा, इम्तिहान, मुकद्दर का सिकंदर, इंकार,...

एक थप्पड़ से फिल्म इंडस्ट्री को मिला शोमैन

नई पीढ़ी के लिए केदार शर्मा वह फिल्मकार हंै जिन्होंने एक ओर रणवीर कपूर के दादाजी राज कपूर को परदे पर उतारा तो दूसरी...

इंडियन एक्सप्रेस डिजिटल का तमिल संस्करण लॉन्च

इंडियन एक्सप्रेस डिजिटल का तमिल संस्करण Ietamil.com 28 अप्रैल से लाइव हो गया।

अखबार-किताब पढ़ने की फुर्सत नहीं लेकिन फेसबुक-वाह्टसप को चट करने की आदत बढ़ी

सोशल मीडिया के आने के बाद से हर व्यक्ति अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का पूरा पूरा उपयोग करते हुए अपनेआप को लेखक समझता जा रहा...

सोनिया गांधी ने नहीं मानी नीतीश की सलाह तो कांग्रेस का बिखरना तय

आखिर ऐसी नौबत क्यों आ रही है ? इस सवाल का एक ही जवाब मिलता है कि सोनिया जी अस्वस्थ हैं और राहुल गांधी...

साहित्य जीवन का एक पहलू है, उसका काम दुनिया को बदलना नहीं है…

प्रेमचंद के साहित्य में स्त्री है, जाति है, दिखते सब हैं। लेकिन प्रेमचंद की स्त्री और जाति-व्यवस्था के शोषण में पिस रहे किरदार चैतन्य...

सबरंग