January 23, 2017

ताज़ा खबर

 

अगर भारत-पाकिस्‍तान में जंग हुई तो पाकिस्‍तान की हार तय: रक्षा विशेषज्ञ

भारत की कोशिश पाकिस्तान को पूरी दुनिया में अलग-थलग करने की है।

वाघा बॉर्डर। (PTI File Photo)

दूध मांगोगे तो खीर देंगे, कश्मीर मांगोगे तो चीर देंगे। ये फिल्मी डायलॉग देश के बच्चे-बच्चे के जुबान पर है। उरी हमले के बाद जो हालात बने हैं उसके बाद देश में पाकिस्तान को जवाब देने की आवाजें बुलंद हैं। सेना ने पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक कर जवाब भी दिया लेकिन पाक के नापाक मंसूबों से हालात काफी बिगड़े हुए हैं। बॉर्डर पर टेंशन बढ़ गया है, हालांकि किसी तरह के जंग के बारे में सोचना नादानी है लेकिन फिर भी जंग हुआ तो जीतेगा कौन? भारत, पाकिस्तान दोनों परमाणु संपन्न देश हैं। पाकिस्तान बार-बार इस पावर की गीदर भभकी भारत को देता भी रहता है लेकिन भारत पहले परमाणु हथियार इस्तेमाल करने की बात पर अडिग है। फिर भी जंग हुआ तो क्या होगा? पूर्व डिप्लोमेट और रक्षा विशेषज्ञ जे के त्रिपाठी कहते हैं- जंग होनी नहीं चाहिए लेकिन जंग हुआ तो पाकिस्तान की हार तय है। जे के त्रिपाठी के मुताबिक पावर के मामले पर पाकिस्तान पर भारत काफी भारी है। भारत की आर्मी, नेवी या फिर एयरफोर्स तीनों सेनाएं पाकिस्तान के मुकाबले में काफी पावरफुल हैं।

पाकिस्‍तानी कलाकारों के भारत में काम करने पर क्‍या बोले नाना पाटेकर, देखें वीडियो: 

जमीन पर ताकत

आर्मी पावर के मामले में भारत के सामने पाकिस्तान कहीं नहीं टिकता। भारत के पास आर्मी मैनपावर की संख्या 13.25 लाख है, जबकि पाकिस्तान में आर्मी मैनपावर की संख्या 6.17 लाख है। यानी भारत की आर्मी पाकिस्तान की आर्मी से दोगुनी से भी बड़ी है। पाकिस्तान के मुकाबले भारत के पास युद्ध टैंको की संख्या भी दोगुनी से ज़्यादा है। पाकिस्तान के पास 2,924 युद्ध टैंक है, जबकि भारत के पास 6,464 टैंक है। इसके अलावा पाकिस्तान में इस वक्त भारत सहित अफगानिस्तान और ईरान तीनों बॉर्डर पर हालात अच्छे नहीं है।

आसमान में ताकत

यहां भी भारत की ताकत पाकिस्तान पर बहुत भारी है। पाकिस्तान के मुकाबले भारत के पास एयरक्राफ्ट की संख्या दोगुनी से काफी ज़्यादा है। भारत के पास कुल 2,086 एयरक्राफ्ट हैं जबकि पाकिस्तान के पास सिर्फ 923 एयरक्राफ्ट हैं। भारत के पास 679 फाइटर प्लेन और 809 अटैक एयरक्राफ्ट है। पाकिस्तान के पास 394 अटैक एयरक्राफ्ट, 304 फाइटर प्लेन हैं। पाकिस्तान एयरफोर्स मैनपावर के मामले में भी भारत का मुक़ाबला नहीं कर सकती। भारत के एयरफोर्स की साइज 1.27 लाख है, जबकि पाकिस्तान की सिर्फ 65 हजार के करीब।

READ ALSO: सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा- पाकिस्तानियों की मौत आई है इसलिए भारत की ओर भाग रहे हैं

समंदर में ताकत

भारतीय नेवी के पास 295 शिप के मुकाबले पाकिस्तान की नेवी के पास 197 शिप है। भारत के पास 2 नेवी एयरक्राफ्ट करियर, 14 नेवी फाइटर्स हैं, जबकि पाकिस्तान के पास नेवी एयरक्राफ्ट करियर और नेवी फाइटर नहीं हैं। पाकिस्तान के पास 5 सबमरीन के जवाब में भारत के पास 14 सबमरीन्स के अलावा 1 न्यूक्लियर सबमरीन, 10 डिस्ट्रॉयर्स और 135 कोस्टल डिफेंस क्राफ्ट है। भारत की नेवी का साइज 58,520 है, जबकि पाकिस्तान की नेवी मैनपावर सिर्फ 30,800 है।

परमाणु ताकत

पाकिस्तान के पास भारत के मुकाबले ज्यादा न्यूक्लियर बम है। भारत के पास न्यूक्लियर बमों की संख्या 100-120 के बीच बताई जाती है, जबकि पाकिस्तान के पास 110-130 परमाणु बम होने की बात कही जाती है। पाकिस्तान की अधिकतम मिसाइल रेंज करीब 4,000 किलोमीटर है, जबकि भारत की मिसाइल मारक क्षमता 8,000 किलोमीटर से भी ज़्यादा की है। भारत के मिसाइल की जद में पूरा पाकिस्तान और आधा चीन है। भारत के पास अग्नि बैलिस्टिक मिसाइल और ब्रह्मोस जैसी सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल भी मौजूद है। अभी चंद महीने पहले ही भारत का इंटरसेप्टर मिसाइल परीक्षण भी कामयाब रहा है। यह एंटी बैलिस्टिक मिसाइस सुपरसोनिक (हवा की रफ्तार से भी तेज) 2,000 किलोमीटर की रेंज में हवा में ही दुश्मन की मिसाइलों को मार गिराने की ताकत रखता है।

सर्जिकल स्‍ट्राइक पर क्‍या बोला अमेरिका, देखें वीडियो:

टेक्नोलॉजी से जीतेंगे जंग

भारत से पाकिस्तान 1965, 1971 और 1999 में कारगिल भी युद्ध कर चुका है। पाकिस्तान को तीनों बार मुंह की खानी पड़ी है, बावजूद इसके पाकिस्तान आज भी जंग के लिए हालात पैदा करता रहता है। सैन्य और विदेश मामलों के जानकार कमर आगा कहते हैं कि अगर युद्ध होता है तो पाकिस्तान के न्यूक्लियर हथियार धरे के धरे रह जाएंगे और इसबार दुनिया से उसका नामो निशान मिट सकता है। कमर आगा के मुताबिक इसबार की लड़ाई हथियारों से ज़्यादा टेक्नोलॉजी की है। उरी हमले के बाद जिस तरह के हालात पैदा हुए हैं वैसे में पाकिस्तान के हर एक्शन पर भारत की निगाह है। सेटेलाइट तकनीक के जरिए पाकिस्तान पर भारत पल-पल नज़र बनाए होगा और इंडिया पर न्यूक्लियर अटैक को लेकर पाकिस्तान में हलचल होते ही भारत उसे तबाह कर सकता है।

कूटनीति में भी पलड़ा भारी

पावर और टेक्नोलॉजी के इतर विदेश और कूटनीति में भी भारत लगातार पाकिस्तान को मात देता जा रहा है। भारत ने सार्क देशों के समूह में पाकिस्तान को अलग-थलग करने में कामयाबी हासिल की है। पाकिस्तान की हरतकों से अमेरिकी भी उससे खफा है। भारत को बार-बार न्यूक्लियर हमले की धमकी देने पर अमेरिका ने उसे फटकार भी लगाई है। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अमेरिका और रुस सहित दुनिया के सभी देश भारत के साथ खड़े हैं। यहां तक की पाकिस्तान का परम मित्र चीन भी खुल कर उसके साथ नहीं खड़ा है। उरी हमले के बाद अमेरिका, बांग्लादेश और अफगानिस्तान ने तो पाकिस्तान में किये गये भारत के सर्जिकल स्ट्राइक का समर्थन भी किया है। भारत की कोशिश पाकिस्तान को पूरी दुनिया में अलग-थलग करने की है। भारत चाहता है कि पाकिस्तान को आतंकवादी देश घोषित किया जाए अगर इसमें हमें कामयाबी मिली तो इसका सीधा मतलब होगा की पाकिस्तान हमसे हार गया।

दीपक भारद्वाज, जनसत्‍ता.कॉम के नियमित पाठक

लेख में प्रस्‍तुत विचार लेखक के निजी विचार हैं। जनसत्‍ता.कॉम इस लेख का समर्थन/पुष्टि नहीं करता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 3, 2016 2:15 pm

सबरंग