February 19, 2017

ताज़ा खबर

 

ब्लॉग

सड़क पर पड़ी लाश से भी नहीं पसीजा दिल, पत्थर दिलवालों की हो गई है दिल्ली

अगर समय रहते इन मानवीय मूल्यों के संरक्षण की दिशा में कारगर कदम नहीं उठाए गए तो आनेवाली पीढ़ियां न तो नैतिकता का तकाजा...

जेएनयू, हैदराबाद में देशविरोधी बातों का बचाव करने वालों, आरक्षण के खिलाफ भी तो बोलो! 

संविधान की प्रस्तावना में उल्लिखित शब्दों जैसे सामाजिक और आर्थिक न्याय तथा अवसर की समानता आदि का वर्तमान जातिगत आरक्षण व्यवस्था किस प्रकार अनुसरण...

स्‍टंट भी हो सकता है ‘पद्मावती’ पर विवाद: कहानी कुछ भी हो, पर इतिहास से खिलवाड़ तो कर ही रहे हैं संजय लीला भंसाली

सोचने वाली बात यह भी है कि अगर फिल्म में रणवीर और दीपिका नाचेंगे या गाएंगे नहीं तो फिल्म कैसे हिट होगी? फिल्म कैसे...

राजनीति में अमर्यादित भाषा का लुत्फ न उठाए, बोलने वालों को सबक सिखाए जनता

भाषा का राष्ट्रीय चरित्र के उत्थान में बहुत बड़ा योगदान होता है। इसे नेतागण स्वीकारें या न स्वीकारें, क्योंकि नेताओं की स्वीकृति अथवा अस्वीकृति...

बिहार के नुकसान से सबक लेकर यूपी चुनाव प्रचार में तीखे तेवर नहीं दिखा रहे पीएम नरेंद्र मोदी

2015 की जुलाई में नरेंद्र मोदी ने मुजफ्फर पुर की अपनी सभा में कह दिया था कि नीतीश कुमार के डी.एन.ए. में ही कुछ...

…तो क्‍या व‍िपक्षी सांसद होने के चलते ई अहमद के ल‍िए स्‍थग‍ित नहीं हुआ सदन, या यह है नई परंपरा की शुरुआत?

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के सांसद ई अहमद पांच बार विधायक और सात बार सांसद रहे थे।

आम बजट 2017: जेटली की चतुराई, चुनाव आयोग के डंडे का मान भी रखा और चुनावी चाल भी चली

Union Budget 2017: जेटली ने चुनाव आयोग के दिशा-निर्देश के मुताबिक भले ही अपने बजट भाषण में चुनावी राज्यों का नाम न लिया हो...

Union Budget 2017: अरुण जेटली ने चंदा छिपाने वाली राजनीतिक पार्टियों को झटका तो दिया मगर प्यार से

बुधवार (एक फरवरी) को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राजनीतिक दलों के 2000 रुपये से अधिक नकद चंदे पर रोक लगाकर ऐसे टूटे हुए...

जयति घोष का आकलन: नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने ही फैसलों से इस बजट को बना ल‍िया है सबसे मुश्‍क‍िल

आम बजट 2017: इस बार सरकार करीब एक महीने पहले आम बजट पेश कर रही है। वहीं रेल बजट भी इस बार नहीं पेश...

फिर डरपोक साबित हुआ बॉलीवुड, 24 घंटे में ही दोबारा ‘राजपूत’ बने एक्‍टर सुशांत सिंह

भंसाली के पक्ष में बॉलीवुड केवल ट्वीट और बातों के सहारे ही रहा। फिल्‍मी कलाकारों के संगठनों ने इस संबंध में किसी भी तरह...

Blog: गाँधी और खादी अब बस कागजों और भाषणों में बचे हैं…

mahatma gandhi death anniversary: युवा पीढ़ी तो शायद सोहनलाल द्विवेदी के खादी गीत की पंक्तियों से भी अनभिज्ञ हैं कि "खादी के धागे-धागे में,...

भंसाली साब! आशुतोष गोवारिकर की राह पर मत चलिए, ‘सती’ पद्मिनी को खिलजी की प्रेमिका कैसे बना सकते हैं?

फिल्‍म डायरेक्‍टर संजय लीला भंसाली की फिल्‍म पद्मावती पर इतिहास से छेड़छाड़ के आरोपों का सामना करना पड़ रहा है।

करणी सेना तुमने पाप किया है, पृथ्‍वीराज चौहान की दरियादिली से कुछ तो लेते सीख

फिल्‍म निर्माता और निर्देशक संजय लीला भंसाली पर जयपुर में पद्मावती की शूटिंग के दौरान हमला कर दिया।

बेबाक बोलः पंच परमेश्वर- बाखर

14 मई, 2014 को हिंदुस्तान में सत्ता बदलने के साथ सियासत के बहुत से समीकरण भी बदले।

नेता शरद पवार को पद्म विभूषण, 68 साल से मुफ्त इलाज कर रहीं भक्ति यादव को पद्म श्री, बहुत नाइंसाफी है मोदीजी!

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी) को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी "भ्रष्टाचारवादी पार्टी" और "नेचुरली करप्ट पार्टी" बता चुके हैं फिर भी उनकी...

Blog: बिहार के बाद यूपी चुनाव पर भी पड़ा आरक्षण पर संघ की राय का असर तो बिखर सकता है NDA?

जानकार लोग बताते हैं कि संघ कोई बयान बहुत सोच समझ कर ही देता है। सवाल है कि ऐसे बयानों के पीछे की संघ...

कर्पूरी ठाकुर जयंती: देशी माटी में जन्मे देशी मिजाज के राजनेता थे जिन्हें न पद का लोभ था, न उसकी लालसा

कर्पूरी ठाकुर का संसदीय जीवन सत्ता से ओत-प्रोत कम ही रहा। उन्होंने अधिकांश समय तक विपक्ष की राजनीति की।

आपको बस खाना बनाना भर है… चावल, गेहूं, दूध, घी, प्रेशर कुकर अखिलेश के घोषणा पत्र में सब कुछ मुफ़्त

अखिलेश के रणनीतिकारों की मानें तो अगर राज्य की गरीब जनता अपने दो जून की रोटी की चिंता से मुक़्त हो जाए तो सोशल...

सबरंग