ताज़ा खबर
 

तवलीन सिंह के सभी पोस्ट

तवलीन सिंह का कॉलम वक्त की नब्जः संकीर्ण पंथनिरपेक्षता

धर्म परिवर्तन रोकने के लिए निकल पड़ते हैं संघी सीना तान के। बीफ खाने वालों को जान से मारने के लिए भी निकल पड़ते...

तवलीन सिंह का कॉलम वक्त की नब्ज़ः दोहरे पैमाने

प्रधानमंत्री ने चुनाव के दौरान काला धन वापस लाने का वादा किया था, वह न सिर्फ ‘चुनावी जुमला’ था, बल्कि झूठी बात थी। वैसे...

तवलीन सिंह का कॉलम वक्त की नब्जः परिवर्तन का सपना

प्रधानमंत्री को पिछले सप्ताह लोकसभा में बोलते हुए सुन कर अच्छा लगा। इसलिए कि पिछले दिनों वे कुछ ज्यादा ही मौन रहे हैं और...

JNU विवाद पर तवलीन सिंह का कॉलम वक़्त की नब्ज़ : राष्ट्रवाद की हवा में

पिछले सप्ताह जेएनयू और रोहित वेमुला पर जब बहस होने दी तो मेरी राय में जीत राष्ट्रवादियों की हुई,

तवलीन सिंह का कॉलम वक्त की नब्जः इस विरोध के पीछे

पटियाला हाउस में जो हुआ शर्मनाक जरूर है, लेकिन उन हादसों से इस देश को मेरी नजर में कोई खतरा नहीं है। खतरा है,...

तवलीन सिंह का कॉलम वक़्त की नब्ज़ : महबूबा का असमंजस

जम्मू-कश्मीर जैसे राज्य में सरकार का एक महीने से इस तरह लटके रहना खतरनाक है। सो, या तो महबूबा खुद अपनी विरासत संभालें या...

तवलीन सिंह का कॉलम वक़्त की नब्ज़ : नाकाम योजनाओं के सहारे

सोनिया गांधी की सलाहकार परिषद की एक और देन है, जो मोदी सरकार गर्व से अपना रही है और वह है खाद्य सुरक्षा कानून।...

तवलीन सिंह का कॉलम वक्त की नब्ज़ः नौकरशाही पर नकेल की जरूरत

प्रधानमंत्री को भूलना नहीं चाहिए एक क्षण के लिए भी कि उनको जनादेश पूरी बहुमत के साथ मिला था परिवर्तन लाने के नाम पर।...

तवलीन सिंह का कॉलम वक़्त की नब्ज़ : ध्यान बंटाने का मौका

रोहित वेमुला के मामले में संवेदनशीलता मानव संसाधन विकास मंत्री ने भी नहीं दिखाई, जब दो विद्यार्थी गुटों के झगड़ों के बीच आने का...

तवलीन सिंह का कॉलम वक्त़ की नब्जः अभी बहुत कुछ करना है

यह साल नरेंद्र मोदी की अग्निपरीक्षा का होगा। इसलिए कि अब वह वक्त निकल चुका है, जब गांधी परिवार के पांच दशक लंबे राज...

तवलीन सिंह का कॉलम वक्‍त की नब्‍ज: यह अघोषित युद्ध है

पठानकोट जैसे हमले होते रहेंगे भारत में कहीं न कहीं, जब तक हम स्वीकार नहीं करते कि ऐसे हमले एक अघोषित युद्ध का हिस्सा...

तवलीन सिंह का कॉलम वक्‍त की नब्‍ज: नए साल में जरूरी है नई चाल

एक नए साल की शुरुआत कैसे की जा सकती है, बिना गुजरे साल के गिरेबान में झांके। झांकने की कोशिश जब की मैंने तो...

तवलीन सिंह का कॉलम वक़्त की नब्ज़ : अब खामोशी टूटनी चाहिए

अखलाक की बेटी शाइस्ता ने पंद्रह लोगों की शिनाख्त भी की है, जिनमें से एक-दो लड़के भारतीय जनता पार्टी के स्थानीय नेताओं के रिश्तेदार...

तवलीन सिंह का कॉलम वक़्त की नब्ज़ : पहले विकास का पहिया चलाइए

पिछले कुछ महीनों से ऐसा लगने लगा है जैसे हर हफ्ते किसी न किसी बहाने किसी न किसी मंत्री या मुख्यमंत्री के इस्तीफा देने...

नेशनल हेराल्‍ड केस पर तवलीन सिंह का कॉलम: हकीकत पर हंगामे का परदा

हम जानते हैं कि सोनिया गांधी इंदिरा गांधी की बहू हैं। हम यह भी जानते हैं कि न होतीं अगर इंदिरा गांधी की बहू,...

तवलीन सिंह का कॉलम: कहानी किसी की, सूत्रधार कोई और

पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री जब राज्यसभा में असहनशीलता पर बहस का जवाब दे रहे थे, तब राहुल गांधी ने लोकसभा में उनको खूब फटकार लगाई।

तवलीन सिंह का कॉलम वक्‍त की नब्‍ज: असहिष्णुता के इलाके

सारी दुनिया में सहमति बन चुकी है इन दिनों कि विश्व और इस विश्व की संस्कृति को सबसे बड़ा खतरा है वहाबी इस्लाम से।...

तवलीन सिंह का कॉलम वक़्त की नब्ज़ : जिहाद बनाम जकड़बंदी

जब से पेरिस में जिहादी हमले हुए हैं, दो झूठ अपने भारत देश में इतनी बार बोले गए हैं कि सुनते-सुनते मेरे कान पक...

सबरंग