ताज़ा खबर
 

शशिप्रभा तिवारी के सभी पोस्ट

तलाश-ए-हक की पेशकश

जकल कथक नृत्य में ज्यादातर शोर देखने-सुनने को मिलता है। पर इस लीक से हटकर, परंपरा की खुशबू का अहसास तलाश-ए-हक नृत्य प्रस्तुति में...

एक-एक ग्रह के भाव को नृत्य से दर्शाया

युवा नृत्यांगनाओं ने अपने प्रयासों से अपनी पहचान कायम करने का प्रयास किया है।

मालविका सरूकई ने कहा नृत्य भी एक भाषा है

मालविका सरूकई का कहना है कि शास्त्रीय नृत्य की सतत प्रवाहमान परंपरा है।

नए विषयों पर नृत्य पेश करती हैं कविता

डिशी नृत्यांगना कविता द्विवेदी ने नृत्य रचना पिंगला की परिकल्पना की है।

न जाने कहां भटक गई नृत्य की आत्मा

सोनल मानसिंह के लिए जीवन ही नृत्य है, नृत्य ही जीवन है। वे कहती हैं कि जहां हम खड़े हो जाते हैं वहीं मंदिर...

बच्चों को कथक के बारे में बताना आसान: गीतांजलि

भारतीय कलाओं और कलाकारों को समर्पित स्पिक मैके के 40 साल पूरे हो गए हैं। इस वर्ष स्पिक मैके का अंतरराष्ट्रीय समागम राजधानी दिल्ली...

ओडिशी नृत्य की एक शाम

कलासंधानी कल्चरल सोसायटी की ओर से राजधानी दिल्ली में हुए नृत्य कार्यक्रम में ओडिशी नृत्यांगना पोषाली मुखर्जी और मधुमिता सेन के सानिध्य में उनकी...

वरिष्ठ-युवा कलाकारों ने समां बांधा

युवा कलाकारों को जब भी अवसर मिलता है, वह अपना उत्कृष्ट प्रदर्शित करने के इच्छुक रहते हैं।

भय पर विजय गाथा का उत्सव

शास्त्रीय नृत्य शैली के कुछ गुरुओं ने अपनी परिकल्पना से मुश्किल विषयों पर नृत्य रचना की है। श्रीराम भारतीय कला की ओर से आयोजित...

कथक के केंद्र में युवा ऊर्जा

कथक नृत्य की शुरुआत कभी हंडिया गांव से हुई। लखनऊ, जयपुर, बनारस और रायपुर के राजदरबार और मंदिरों में यह नृत्य पोषित और पल्लवित...

समकालीन नृत्यों पर उदयः नृत्य रचना मृत मूरत

आधुनिक की ओर से नृत्य समारोह उदय-6 का आयोजन किया गया।

गीता चंद्रन का भरतनाट्यम नृत्य, शब्द और भाव की परतें

धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में मुकदमा दर्ज होने के बाद संभल कूच का ऐलान करने वाले एक क्षेत्रीय समाचार चैनल के मुख्य महाप्रबंधक...

तकनीक के शहर में संस्कृति की तान

दिल्ली से सटे गुरुग्राम में पिछले दिनों गुरुग्राम उत्सव का आयोजन किया गया। इसका आयोजन नृत्य धारा और आश्रय ने किया था।

‘मैं ही परंपरा बन गई’

कथक नृत्यांगना रचना यादव ने अपने करियर का एक लंबा सफर तय किया है। कथक नृत्यांगना अदिति मंगलदास की नृत्य रचना देखकर वे काफी...

नृत्य में अर्धनारीश्वर की प्रस्तुति

ओ डिशी नृत्य के जानेमाने गुरु केलूचरण महापात्र के 91वें वर्षगांठ पर आयोजित दो दिसवीय समारोह अंतरदृष्टि में महापात्र और रतीकांत महापात्र की नृत्य...

नृत्य में बाल कृष्ण के नटखट रूप

स्पीक मैके की ओर से विरासत शृंखला के तहत ओड़िशी नृत्यांगना इलियाना सिटारिस्टि ने मॉडर्न स्कूल में नृत्य पेश किया।

संगीत: कला में नयापन

उषा आरके के माता-पिता चाहते थे कि बचपन में वह कर्नाटक संगीत सीखें।

शशिप्रभा तिवारी का लेखः कोणार्क कांति की छटा

गुरु गंगाधर प्रधान ने ओड़ीशी की गुरु-शिष्या परंपरा को काफी दुरुस्त किया था। उनकी शिष्या अनिता बाबू ने उसी परंपरा का अनुसरण किया। पिछले...

सबरंग