ताज़ा खबर
 

प्रभाकर मणि तिवारी के सभी पोस्ट

मिशन बंगाल: मछली की आंख भेदना चाहते हैं अमित शाह

शाह ने कहा कि कोई भी हिंसा बंगाल में भाजपा का बढ़ना नहीं रोक सकती। उन्होंने मानवाधिकार संगठनों से भी तृणमूल की हिंसा के...

न्यायाधीशों की कमी से जूझ रहा है कलकत्ता हाई कोर्ट, वकील नाराज

जजों की अनुमोदित संख्या 72 है लेकिन फिलहाल महज 31 जज ही हैं।

वाममुक्त होने की राह पर बढ़ता बंगाल, बार-बार मात खाने के बावजूद नहीं सीखा सबक

नगरपालिकाओं के पिछले चुनावों में तृणमूल के पास 93 सीटें थीं और वाममोर्चा के पास 36। जबकि कांग्रेस ने 16 जीती थीं।

बंगाल: बड़ी संख्या में नवजातों की होती है मौत, नहीं बनती खबर

कोलकाता स्थित विधान चंद्र राय शिशु अस्पताल पूर्वी भारत में बच्चों का सबसे बड़ा सरकारी रेफरल अस्पताल है। हर साल यहां भी बड़ी संख्या...

पश्चिमबंगाल- आज भी बदले नहीं हालात

वर्ष 1947 से 1971 के बीच बंगाल में सीमा पार से आने वाले सत्तर लाख शरणाथिर्यों ने राज्य की आबादी का ग्राफ तो बदला...

सरहद की तरफ जाता गायों का रेला

राजस्थान, हरियाणा, बिहार और पंजाब से ट्रकों में भर कर गाय बंगाल में पहुंचती हैं। बंगाल से गायों की तस्करी के इस धंधे के...

दमकल के कायदों को ठेंगा दिखा रहे 20 बड़े अस्पताल

महज एक सप्ताह के भीतर हुई इन दोनों घटनाओं ने बंगाल के अस्पतालों में अग्निरोधक उपायों को एक बार फिर कठघरे में खड़ा कर...

बंगाल: लगातार गंभीर होती गंगा तटकटाव की समस्या

पश्चिम बंगाल में तटकटाव की समस्या साल-दर-साल गंभीर होती जा रही है। राज्य के मालदा और मुर्शिदाबाद जिलों में हर साल सैकड़ों एकड़ जमीन...

पश्चिम बंगाल: अब एक-दूसरे के जख्मों पर मरहम लगा रहे हैं दोनों तबके के लोग

एक आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट के मुद्दे पर तीन दिन तक सांप्रदायिक हिंसा की आग में जलने वाले बांग्लादेश की सीमा से लगे इस इलाके...

न तो गोरखालैंड की राह आसान और न ही अमन की

ज्योति बसु सरकार के रवैए की वजह से गोरखालैंड का आंदोलन हिंसक हो गया था। कोई दो साल तक चले हिंसा और आगजनी के...

अब यूरोपीय बाजारों को महका रहे हैं बंगाल के आम

आमों के गढ़ कहे जाने वाले मालदा में अबकी 3.75 मीट्रिक टन पैदावार हुई है जो सामान्य से डेढ़ गुनी है।

पश्चिम बंगाल: नदी और जमीन को खोखला कर रहे हैं माफिया गिरोह

पश्चिम बंगाल में सक्रिय कोयला और बालू माफिया राज्य की नदिया और झारखंड से सटे इलाके की जमीन को धीरे-धीरे खोखला कर रहे हैं।...

नक्सलबाड़ी क्रांति 50 साल: कस्बे में नहीं बचा नक्सल शब्द का नामलेना वाला कोई, बाड़ी तो है लेकिन नक्सल नहीं

50 साल पहले जिन वजहों से नक्सल आंदोलन शुरू हुआ था, वे अभी भी मौजूद हैं। लेकिन अब कोई आवाज उठाने वाला नहीं बचा...

असम: कर्मियों को पहनना पड़ सकता है धोती-कुर्ता और मेखला-चादर, विरोध हुआ तेज

विपक्षी कांग्रेस ने भी इसे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को खुश करने की सरकारी कोशिश करार दिया है। इस मुद्दे पर असमिया कर्मियों में भी...

तृणमूल कांग्रेस पर भारी पड़ सकता है नारदा स्टिंग

कलकत्ता हाईकोर्ट के एक फैसले से साल भर पुराने नारदा स्टिंग आपरेशन का जिन्न अचानक बोतल से बाहर निकल आया है।

मणिपुर में क्षेत्रीय दलों के पास है सत्ता की चाबी

विधानसभा में किसी भी राजनीतिक पार्टी को साफ बहुमत नहीं मिलने की वजह से अब दोनों प्रमुख दावेदारों कांग्रेस और भाजपा की निगाहें छोटे...

मणिपुर चुनाव: क्या इस बार अपना राजपाट बचा पाएंगे इबोबी सिंह

1984 में निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर अपना राजनातिक करियर शुरू करने वाले इबोबी ने जल्द ही कांग्रेस का दामन थाम लिया।

चुनाव 2017: दागी उम्मीदवार और बाहुबल-धनबल को लेकर मणिपुर के दामन पर कम है दाग

भारत में लोकसभा या विधानसभा चुनावों में जहां दागी उम्मीदवारों के अलावा बाहुबल और धनबल का इस्तेमाल अब आम है वहीं मणिपुर ने इस...

सबरंग