ताज़ा खबर
 

पारुल जैन के सभी पोस्ट

दुनिया मेरे आगे- ज्ञान का दायरा

अक्सर घरेलू महिलाओं को नौकरीपेशा महिलाओं के मुकाबले कमतर आंका जाता है। यों समझा जाता है कि ऐसी महिलाएं जरूर कम-पढ़ी लिखी होंगी।

रिश्तों के तार

पुरानी पीढ़ी को भी यह समझने की जरूरत है कि दुनिया में संचार और संपर्क का जरिया और संजाल फैलते जाने के दौर में...

आभाषी दुनिया की भाषा

अपने कॉलेज में विद्यार्थियों की अंग्रेजी में लिखी उत्तर पुस्तिका जांचते हुए कई दिलचस्प बातें सामने आर्इं।

सबरंग