June 29, 2017

ताज़ा खबर
 

पी. चिदंबरम के सभी पोस्ट

दूसरी नजर: नए कर विधान का मंगलाचरण

जीएसटी का रास्ता आसान या आराम का नहीं है, बल्कि हमें सतत प्रयास करने होंगे ताकि हम संसद में की गई प्रतिज्ञाओं को, और...

दूसरी नजर- क्यों नाराज हैं किसान

सरकार को सूखे के लिए दोषी नहीं ठहराया जा सकता, पर सरकार सूखे से पैदा हुए हालात को न संभाल पाने की दोषी तो...

दूसरी नजर: मेक इन इंडिया का फ्लॉप शो

भारत के जीडीपी में मैन्युफैक्चरिंग का हिस्सा करीब 16.5 फीसद है। कृषिक्षेत्र का हिस्सा तेजी से कम हुआ है और सेवाक्षेत्र का हिस्सा तेजी...

दूसरी नजर- सरकार को आईना दिखाते आंकड़े

मैंने भविष्यवाणी की थी कि अर्थव्यवस्था को एक से डेढ़ फीसद की चपत लगेगी। मैं सही साबित हुआ, यह मेरे लिए कोई खुशी की...

दूसरी नजर- जश्न के बरक्स : न रोजगार न शांति

मतदाता जब वोट डालने जाता है तो दूसरे मुद््दे भी उसके दिमाग में आ सकते हैं, लेकिन सामान्य परिस्थितियों में वह रोटी-रोजगार, मजदूरी/आय,...

दूसरी नजर- वे आशंकाएं-3

सत्ता के सामने सच्चाई बयान करना एक दुर्लभ गुण है। देश के मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन में यह गुण है।

दूसरी नजर: वे आशंकाएं-2

भारत एक रक्तरंजित क्षेत्र हो गया है, न केवल उग्रवादियों और माओवादियों के कारण, बल्कि पसंदगियों और नापसंदगियों की वजह से भी हत्या होती...

दूसरी नजर: वे आशंकाएं

नक्सल प्रभावित क्षेत्रों की तस्वीर बहुत निराशाजनक है और साफ दिख रहा है कि स्थिति दिनोंदिन और बिगड़ रही है।

दूसरी नजर: जॉर्ज आरवेल को फिर पढ़ें

विशिष्ट पहचान नंबर जरूरी है, लेकिन इसे लोगों की जिंदगी के बारे में संभावित जासूसी या निजी सूचनाएं इकट्ठा करने का जरिया नहीं...

दूसरी नजरः घोर विपदा की तरफ बढ़ता कश्मीर

जम्मू एवं कश्मीर की स्थिति पर मैंने कई बार लिखा है, खासकर कश्मीर घाटी की स्थिति के संदर्भ के साथ।

दूसरी नजर: क्या हमारी प्राथमिकताएं सही हैं

मैं तो यह भी कहूंगा कि केंद्र सरकार और सबसे बड़े राज्य की प्राथमिकताएं भिन्न नहीं हो सकतीं, खासकर तब, जब दोनों जगह एक...

दूसरी नजरः निरंकुश सत्ता का उन्माद

वित्तमंत्री के साल भर के विधायी एजेंडे में वित्त विधेयक अमूमन सबसे महत्त्वपूर्ण विधेयक होता है।

दूसरी नज़र: जहां बच्चे उपेक्षित हैं

मानव संसाधन विकास की हमारी परिकल्पना में बच्चों का विकास, बच्चों का स्वास्थ्य और बच्चों का पोषण शामिल नहीं है।

दूसरी नज़र: यहां जीत वहां सेंध

त्रिशुंक विधानसभा की सूरत में सरकार के गठन को लेकर एक अलिखित नियम रहा है, जो बिल्कुल साफ है। जिस पार्टी को सबसे ज्यादा...

दूसरी नज़र: जनादेश के बाद की उम्मीद

इस स्तंभ को एक दिन देर से भेजने की इजाजत मैंने संपादकों से ले ली थी, ताकि पांच राज्यों के चुनाव नतीजों का जायजा...

दूसरी नज़र : सांख्यिकीय विकास से पेट नहीं भरता

वृद्धि दर चाहे 6.5 फीसद रहे या सात फीसद, यह देश के लिए संतोष का विषय है- अपनी पीठ थपथपाने और उल्लास का नहीं।

दूसरी नजर: उच्च शिक्षा का निम्न स्तर

इसका मकसद केवल उन युवा स्त्री-पुरुषों को डिग्री बांटना नहीं होता, जो यहां दाखिला लेते हैं, विभिन्न विषयों की पढ़ाई करते हैं और इम्तहान...

दूसरी नज़र: अन्नाद्रमुक का उत्थान और पतन

सुप्रीम कोर्ट के सामने आए मामले में, जयललिता और अन्य पर, 1991-96 के कार्यकाल के दौरान आय से अधिक संपत्ति जमा करने के आरोप...

सबरंग