ताज़ा खबर
 

हरि राम मीणा के सभी पोस्ट

नाद का आनंद

इन्हीं के सम्मिश्रण से चराचर का उद्भव हुआ। इस सृष्टि के अभ्युदय के इस सिद्धांत से सभी सहमत हैं, चाहे वे ब्रह्मज्ञानी हों या...

हाशिये का सौंदर्यबोध

इस त्रासदी का विरोध वर्ण-व्यवस्था के जन्म के साथ ही शुरू हो गया था। इस प्रतिरोध में चार्वाक-लोकायत से लेकर आजीवक, जैन, बौद्ध जैसे...

आदिवासी विमर्श: छीजती आदिवासी अस्मिता

जंगलों पर आधारित आर्थिक जीवन को प्राकृतिक संसाधनों के दोहन ने बुरी तरह प्रभावित किया है।

‘आदिवासी विमर्श’ कॉलम में हरि राम मीणा का लेख : आदिवासी की संपत्ति

दंभ और विलासिता माया की ही उपज होती है, जो इंसान को इंसान नहीं रहने देती। आदिवासी जानता है कि कैसे इंसान को जिंदा...

‘आदिवासी विमर्श’ कॉलम में हरि राम मीणा का लेख : संचार और संकुचित संचेतना

नियत तारीख पर वह व्यक्ति अदालत में हाजिर हुआ और बतौर सबूत पत्थर का एक टुकड़ा और सकुआ वृक्ष की एक टहनी अदालत को...

‘सिनेमा’ कॉलम में हरि राम मीणा का लेख : हिंदी फिल्मों में आदिवासी

‘जोलीवुड’ नाम से लोकप्रिय छोटा नागपुर फिल्म इंडस्ट्री के बैनर तले कई फिल्में बनी हैं, जो आदिवासी जीवन को गहराई से दृश्यांकित करती हैं।

आदिवासी संस्कृति : आदिवासी समाज में स्त्री

आदिम समुदायों में लड़की को अपना पति चुनने की उतनी ही स्वतंत्रता होती है, जितनी लड़के को।

आदिवासी संस्कृति : परंपरा को पोसते हुए

भगवान महादेव के प्रति भारत के करीब सभी आदिम समुदायों की आस्था रही है। इसका कारण है कि महादेव आदिदेव हैं, जिनकी जीवन शैली...

आदिवासी विमर्शः विकास विरोधी नहीं अादिवासी

आप अपने हिसाब से आदिवासियों के बीच मत जाइए, उनकी मानसिकता को समझ कर, उनके हिसाब से जाइए। वे आपको और आपकी योजनाओं को...

परंपरा का ज्ञान पोसते वनवासी

छत्तीसगढ़ के घने जंगलों में बैगा समुदाय भ्रमरमार और तेलियाकंद नामक दुर्लभ औषधि का उपयोग रक्त कैंसर की चिकित्सा में करते हैं। हड्डी टूटने...

आदिवासी नेतृत्व का सवाल

भारतीय समाज को समझने के लिए हम वर्ण आधारित जातिसमुच्चय और आदिम समुदायों से निर्मित जनगण की अवधारणा का सहारा ले सकते हैं।

सबरंग