June 26, 2017

ताज़ा खबर
 

गोपाल कटेशिया के सभी पोस्ट

बंद हो रहे अल्फ्रेड हाई स्कूल से अलग नहीं महात्‍मा गांधी से जुड़े इन दो और स्‍कूलों की हालत

राजकोट स्थित किशोरसिंहजी स्कूल नंबर एक में महात्मा गांधी ने 21 जनवरी 1879 से एक दिसंबर 1880 के बीच पढ़ाई की थी।

गुजरात: आत्महत्या करने वाले दलित शख्स को 1991 में दिया गया था ‘गांव निकाला’

गुजरात में प्रभात परमार नाम के एक दलित शख्स ने आत्महत्या कर ली। परमार ने एक विरोध प्रदर्शन के दौरान आत्महत्या की थी।

उना में दलितों की पिटाई पर बीजेपी जो भी कहे, गुजरात में गौरक्षकों को मिलता रहा है इनाम

गुजरात के उना में कथित गौरक्षकों द्वारा दलितों की गाय की खाल उतारने पर की गई बर्बर पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल...

ऊना: CID ने पेश किए नए तथ्य, कहा- गाय को दलित परिवार ने नहीं शेर ने मारा था

CID का कहना है कि गाय को दलित परिवार ने नहीं बल्कि एक शेर ने मारा था। यह बात एक चश्मदीद गवाह के बयान...

गुजरात में ऐसे हुआ राहुल गांधी के लिए मरीज का इंतजाम: डॉक्‍टरों ने डिस्‍चार्ज कर दिया था, पर नेताओं ने दोबारा करवा दिया भर्ती

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत के दौरान राजकोट और ऊना के डॉक्टरों ने बताया कि उनपर राजनीतिक दवाब था।

गुजरात: 46 लोगों की भीड़ पर दलित की हत्या का आरोप, पंचायत की जमीन पर कब्जे का था मामला

जिन लोगों पर राम की हत्या का आरोप है और गांव के बाकी कुछ लोग भी कह रहे हैं कि यह जमीन पर कब्जा...

शियाल बेट: गुजरात का द्वीप जहां आजादी के बाद पहली बार पहुंची बिजली

शियाल बेट द्वीप अब भारत के उन 18,000 गांवों में शामिल नहीं है जिनतक बिजली नहीं पहुंच पाई है। शियाल बेट द्वीप पर लगभग...

गुजरातः खेत में सो रहे बच्चे को उठाकर ले गए थे शेर, वन विभाग ने 13 शेरों को किया कैद

रविवार (22 मई) को तीन और शेरों को पकड़कर कैद कर लिया गया है। इन शेरों को मिलाकर पिछले दो महीनों में वहां से...

गुजरात: 10 साल बाद तलाला सीट जीत सकी BJP, एक साल में राज्‍य से पहला अच्‍छा समाचार

भाजपा के गोविंद परमार ने कांग्रेस के भगवान बराड को हराया। पिछले साल नवंबर में पंचायत और निकाय चुनावों में हार के बाद भाजपा...

30 साल पहले राजकोट भेजी गई थी पहली ‘वाटर ट्रेन’, हफ्तों करनी पड़ी थी तैयारी, जानिए पूरी कहानी

1985 वो साल था, जब सौराष्‍ट्र में सूखा पड़ा था। हालांकि, थोड़ी बहुत बारिश हुई थी, लेकिन वह इतनी नहीं थी कि पांच लाख...

सबरंग