ताज़ा खबर
 

जगमोहन सिंह राजपूत के सभी पोस्ट

राजनीतिः शिक्षा से सामाजिक सद्भाव

आज कहा जाता है कि हम विश्व-गांव के निवासी हैं, सब एक-दूसरे के पड़ोस में आ गए हैं, पर यह भुला दिया जाता है...

जवाबदेही से पलायन

बीसवीं सदी के मध्यकाल में विश्व के अनेक देश स्वतंत्र हुए और सभी ने जनतंत्र को अपनाने का प्रयास प्रारंभ किया।

शिक्षाः संस्थाओं की साख का सवाल

आज भी वही संस्थाएं नाम कमा रही हैं, जहां सही नेतृत्व मिल रहा है। अगर कुलपति, प्राचार्य, मुख्य अध्यापक के पद केवल उनकी, योग्यता,...

जगमोहन सिंह राजपूत : अंकों की दौड़ में प्रतिभा का अवमूूूल्यन

अगर इस प्रकार के स्कूल स्थापित हों और लगातार इनकी संख्या बढ़ती रहे तो अनेक दृष्टिकोण परिवर्तन संभव हो सकेंगे।

हमारा इस्लाम, उनका इस्लाम

हिंदुस्तान में इस्लाम खतरे में नहीं है। इस्लाम की वजह से भी यहां कोई धर्म खतरे में नहीं है। इस्लाम पर खतरा और इस्लाम...

सबरंग