ताज़ा खबर
 

अभिषेक कुमार के सभी पोस्ट

बदलते मौसम की खतरनाक करवटें

मौसम विभाग के मुताबिक 28 से 29 अगस्त के बीच चौबीस घंटों में ही मुंबई में 102 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। तेज बारिश,...

राजनीतिः शहरी खेती की तजवीज

खेती को तकनीक से जोड़ने में मिसाल कायम कर चुके इजराइल ने यह दिखाया है कि शहर का कोई भी कोना हो, वहां खेती...

रेलयात्रा कैसे होगी मंगलमय

साफ-सफाई में कमियों से इतर जो बात रेलयात्रियों को सबसे ज्यादा परेशान करती है, वह यह है कि महंगी कीमत चुकाने के बाद भी...

राजनीतिः अगर कैसे बदलेगी नौकरशाही

भारतीय नौकरशाही के बारे में यह आम धारणा है कि बाबुओं की रिश्वतखोरी और आरामतलबी की वजह से कोई भी सरकारी काम समय पर...

जीका की चुनौती और स्वास्थ्य तंत्र

मच्छरों से फैलने वाले जानलेवा जीका वायरस से भारत महफूज नहीं है। इसे लेकर पिछले साल आशंका जताई गई थी।

आधार के औचित्य पर सवाल

महज एक संख्या कैसे हमारी जिंदगी पर असर डाल सकती है, आधार कार्ड ने यह साबित कर दिया है।

क्या मुमकिन है कोहनूर की घर-वापसी

भारत लंबे अरसे से कोहनूर को ब्रिटेन से वापस लाने के लिए संभावनाएं तलाश कर रहा है। कई मंचों से भी इस बहुमूल्य विरासत...

रविवारीः लुप्त होते जलस्रोत

उत्तराखंड हाईकोर्ट ने गंगा-यमुना को जीवित इंसान की भांति अधिकार देने की जो पहल की है, वह कई मायनों में गौरतलब है। दूसरे तमाम...

राजनीतिः नदीजोड़ परियोजनाओं की मुश्किलें

नदीजोड़ जैसी योजनाएं कागजों पर तो अच्छी लगती हैं, पर व्यवहार में इनके रास्ते में कई मुश्किलें हैं। मुद्दा सिर्फ पर्यावरण के लिहाज से...

राजनीतिः कितना सुरक्षित है साइबर संसार

यह देखते हुए कि इस समय देश का पूरा फोकस डिजिटल लेन-देन की व्यवस्था बनाने पर है, छोटी घटनाएं भी उपभोक्ता का इस...

प्रसाधन सौंदर्य के या बीमारी के

जिन चीजों के बल पर लोग, खासतौर से महिलाएं सुंदरता हासिल करना का सपना पाले हुए हैं, उनमें से बहुतेरे उत्पाद कैंसर तक फैला...

हवा के आपातकाल का जिम्मेवार कौन

वायु प्रदूषण में इजाफा करने वाले सूक्ष्म कणों की बढ़ती मौजूदगी के कुछ कारण और हैं।

परिंदों के संग उड़कर आता बुखार

मांसाहार की बढ़ती प्रवृत्ति के चलते देखा जा रहा है कि पिछले एक दशक से हमारे देश में प्राय: हर साल कहीं न कहीं...

राजनीति: पुड़िया को बाजार ले जाने की चुनौती

आयुर्वेदिक दवाओं की एक खेप उनमें तय मानक से कई गुना ज्यादा भारी धातुओं की उपस्थिति के दावे के साथ लौटा दी गई थी।

किसका है रसगुल्ला

18वीं सदी के दौरान बंगाल में मौजूद डच और पुर्तगाली उपनिवेशवादियों ने छेने से मिठाई बनाने की तरकीब ईजाद की और तभी से बंगाल...

राजनीतिः क्या है डॉपिंग का इलाज

इस दशा में कोई सुधार तभी संभव है जब खेलों में भाग लेने वाले देश, खेल संगठन और कोच सभी खेल भावना का आदर...

चिंता कॉलम में अभिषेक कुमार का लेख : कितने फायदेमंद हैं कीटनाशक

दुनिया भर में घरेलू और खेती में प्रयुक्त होने वाले कीटनाशकों का जानवरों पर प्रयोग करके पाया गया है कि इनसे मस्तिष्क का विकास...

अभिषेक कुमार का लेख : कैसे होगा लेटलतीफी का इलाज

देश में जो नई कॉरपोरेट संस्कृति पनप रही है, उसमें देर से दफ्तर आने वालों के लिए कोई जगह नहीं होती है। वहां लेटलतीफों...